जिले के 18 हजार से अधिक मजदूरों को मिला स्थानीय स्तर पर रोजगार


कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए कर रहे सोशल डिस्टेंसिग का पालन

 

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत 200 ग्राम पंचायतों में 569 कार्य प्रारंभ


धमतरी। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लाॅकडाउन की वजह से मजदूरों को किसी भी प्रकार की परेशानी ना हो, इसे ध्यान में रख कलेक्टर  रजत बंसल द्वारा जिले में गत 03 अप्रैल से महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के तहत रोजगारमूलक कार्य शुरू किए गए हैं। प्रारंभ में जिले के 80 ग्राम पंचायतों से बढ़कर अब वर्तमान में 200 ग्राम पंचायतों में लगभग 40 करोड़ रूपये के 569 निर्माण कार्य कराए जा रहे हैं। इसमें जिले के 18 हजार 518 मजदूर कार्यरत हैं। इनमें धमतरी विकासखण्ड में 1479 मजदूर और 85 कार्य, कुरूद में 5112 मजदूर और 103 कार्य, मगरलोड में 6358 मजदूर और 211 कार्य तथा  विकासखंड नगरी  में 5769 मजदूर कार्यरत तथा यहां 170 कार्य कराए जा रहे हैं। इस दौरान कार्यस्थल पर मजदूरों को सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक द्वारा सोशल डिस्टिेंसिंग का पालन तो कराया ही जा रहा है, साथ ही मास्क लगाने, साबून से हाथ धोने, स्वच्छता बनाए रखने इत्यादि के संबंध में समय समय पर आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए जा रहे हैं। गौरतलब है कि जिले में तालाब निर्माण के 60, भूमि सुधार के 135, डबरी निर्माण 35, वृक्षारोपण रखरखाव के 15 और आवास निर्माण के 30 कार्य स्वीकृत हैं। 

इसी कड़ी में मगरलोड विकासखण्ड के ग्राम पंचायत मोहेरा में तालाब गहरीकरण का कार्य कराया जा रहा है। यहां मजदूरों को शासन द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए दिए गए गाईनलाइन का पालन कराया जा रहा है। रोजगारमूलक कार्य के शुरू होने से मजदूरों ने एकस्वर में खुशी जाहिर करते हुए कहते हैं कि विपरीत परिस्थितियों में भी जिले में स्थानीय स्तर पर रोजगार मूलक कार्य मिलने से परिसंपत्ति निर्माण के अलावा उन की आर्थिक स्थित मजबूत होने में सहायता मिलेगी।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने