28 घंटे दो विक्षिप्त महिलाओं के साथ धैर्य पूर्वक रहकर प्राथमिक उपचार के बाद बिलासपुर में कराया भर्ती




इतनी देर में दोनों महिलाओं से पुलिस को था खतरा 

पुलिस टीम


भूपेंद्र साहू 
धमतरी।वर्तमान में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर धमतरी पुलिस का पेट्रोलिंग कार्य जारी है। इस दौरान  कभी लोगों को समझाइश देते हैं तो कभी राशन का वितरण करते हैं। अब तो उन्होंने विक्षिप्त महिलाओं की मदद करते हुए उन्हें उपचार के लिए बिलासपुर भी भेज दिया। ग्राम साकरा से सूचना मिली कि दो विक्षिप्त महिलाएं गांव में घूम कर गली गलौच करते हुए आस पास के लोगों से मारपीट कर रही है! सूचना मिलते ही संवेदनशीलता का परिचय देते हुए बीपी राजभानु पुलिस अधीक्षक  ने आवश्यक सहायता उपलब्ध कराने हेतु निर्देशित किया।

सहयोगी पंचगण
 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  मनीषा ठाकुर रावटे उप पुलिस अधीक्षक अजाक  सारिका वैद्य एवं उषा ठाकुर के मार्गदर्शन में 1 अप्रेल को थाना सिहावा के प्रभारी संतोष मिश्रा ने सहायक उप निरीक्षक गेंद लाल साहू के साथ आरक्षक अलीमुद्दीन खान, महिला आरक्षक माहेश्वरी सिदार, सांकरा ग्राम के 2 वार्ड पंच देवबती साहू, राम बाई साहू और सखी सेन्टर से हीना कौशर के  साथ सांकरा क्षेत्र में भटकती हुई दो विक्षिप्त महिलाएं- डिगेश्वरी शांडिल्य पति लकेश्वर शांडिल्य निवासी भीतररास एवं चमेली साहू पति छोटे लाल साहू निवासी मैनपुर को जिला चिकित्सालय धमतरी ले जाकर प्राथमिक इलाज करवाया गया एवं  न्यायालय से अनुमति लेकर दोनों महिलाओं को समुचित इलाज हेतु सुरक्षित तरीके से उच्च संस्थान राज्य मनोरोग चिकित्सालय बिलासपुर ले जाकर भर्ती कराया ।  

 एएसपी मनीषा ठाकुर ने बताया कि यह बहुत ही कठिन कार्य था क्योंकि दोनों विक्षिप्त महिलाएं  काफी उग्र होकर मारपीट भी किया करती थी जिसे संयुक्त टीम के द्वारा संवेदनशीलता का परिचय देते हुए काफी धैर्य के साथ अपना कर्तव्य निभाया। दोनों महिलाओं के साथ टीम 1 अप्रैल की दोपहर 1बजे से 2 अप्रैल की शाम 5  बजे तक 28 घंटे तक उनके साथ थी।थाना सिहावा पुलिस एवं सखी वन स्टॉप सेंटर धमतरी द्वारा सराहनीय कार्य किया गया।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने