हीरा तस्कर गरियाबंद पुलिस की गिरफ्त में, तगड़ी घेराबंदी से 16 दिन में 7 लाख 50 हजार के हीरा जब्त


 तस्करी के अलग-अलग मामलें में 2 हिरासत में

गरियाबंद । गरियाबंद पुलिस के तगड़ी सुरक्षा घेरे में अपराधी एक-एक कर फंसते जा रहे है। 16 दिन के भीतर ही पुलिस ने अलग-अलग मामलों में क़ीमती हीरा पत्थर की तस्करी करने वाले 2 लोगों गिरफ्तार किया ।
      जब से युवा, ऊर्जावान आईपीएस अधिकारी  भोजराम पटेल ने जिले की कमान संभाली है, तब से उनके कुशल नेतृत्व और मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर के निर्देश पर ज़िले की पुलिस मुस्तैदी से अपने दायित्व निर्वहन में लगी हुई है। जिसका फायदा नजर आने लगा है। एक के बाद एक कई तस्कर पुलिस की गिरफ़्त में आए है।तस्करी का ऐसे ही अलग-अलग मामले में पुलिस ने 16 दिन के भीतर ही 2 लोगों को कीमती पत्थर के साथ हिरासत में लिया है।
 पहला मामला मैनपुर थाने का है जहां मुखबीर के सूचना पर अनुविभागीय अधिकारी पुलिस मैनपुर  रूपेश डाण्डे के निर्देश  के बाद मैनपुर थाना प्रभारी भूषण चंद्राकर की टीम ने नाका बंदी कर आरोपी के पास से 24 नग कीमती हीरा पत्थर के साथ पकड़ा। जिसकी कीमत 3 लाख रुपए है।
 
 इसी तरह 7 मई गुरुवार को मुखबिर से सुचना मिली की ग्राम गौरघाट तिराहा के पास मैनपुर के रूपेश कश्यप नामक व्यक्ति जो अपने पास अवैध रूप से क़ीमती हीरा पत्थर खनिज पदार्थ चोरी कर बेचने की फ़िराक में है। इससे पहले वो कोई ग्राहक तलाश पाता, मैनपुर पुलिस ने उसे घेराबंदी कर धर दबोचा। उसके पास से 32 नग हीरा जैसा खनिज पदार्थ क़ीमत 450000/- रुपये बरामद किया गया। उसके ख़िलाफ़ धारा 379 भादवि, 4(21)  माइनिंग एक्ट के तहत कार्रवाई की गई आरोपी को माननीय न्यायालय गरियाबंद में रिमांड पेश किया गया । उक्त कार्रवाई में  थाना मैनपुर प्रभारी भूषण चंद्राकर, प्रधान आरक्षक विजय मिश्रा ,आरक्षक माधव साहू  तथा नगर सैनिक पुरुषोत्तम डाहटे का सराहनीय योगदान रहा।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने