बड़ी खबर : 17 मई तक बढ़ाया गया लॉक डाउन ,ग्रीन जोन को मिलेगी कुछ रहत

 

नई दिल्ली।  लॉकडाउन के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को आवश्यक बैठक बुलाई। इसके बाद फैसला लिया कि लॉकडाउन को 2 हफ्ते यानी 17 मई तक बढ़ाया जाए। मीटिंग में गृह मंत्री अमित शाह, रेल मंत्री पीयूष गोयल, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, सीडीएस जनरल बिपिन रावत समेत कई अफसर मौजूद रहे।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, माना जा रहा है कि अगले एक दो दिन में गृह मंत्रालय की नई गाइडलाइन जारी कर सकती है, जिसमें किस जोन में क्या छूट दी जाएगी? इसका ब्यौरा होगा।

देश में 130 जिले रेड जोन

कोरोना महामारी से निपटने के लिए सरकार ने भारत के जिलों में तीन भाग हॉटस्पॉट (रेड जोन), नॉन-हॉटस्पॉट (ऑरेंज जोन) और ग्रीन जोन में बांटा है। भारत सरकार ने 319 जिलों को ग्रीन, 284 को ऑरेंज और 130 जिलों को रेड जोन में रखा है। अब किसी भी जिले में अगर 21 दिनों तक कोई केस नहीं आता तो उसे ग्रीन जोन में रखा जाता है। पहले 28 दिन तक केस देखने होते थे। ऐसे में देश के करीब 45% भाग में सीमाओं के दायरे में और अधिक छूट मिल सकती है। क्योंकि यहां पर कोरोना का खतरा नहीं है।

देश में कोरोना के 34863 केस

कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। अब तक 34863 केस सामने आ चुके हैं। हालांकि, इसका 25% से ज्यादा यानी करीब 9059 लोग ठीक हो चुके हैं। 24 हजार से ज्यादा मरीजों का अभी इलाज चल रहा है। अब तक देश में 1154 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में 1800 नए केस सामने आए हैं। ये आंकड़े covid19india के मुताबिक हैं।

चार राज्यों का लॉकडाउन ना हटाने का ऐलान

पंजाब, तेलंगाना, बंगाल के त्रिपुरा ने भी लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान कर दिया है। उधर, राज्यों ने अपने राज्य से बाहर फंसे मजदूरों, छात्रों और अन्य लोगों की वापसी के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। हालांकि, राजस्थान, पंजाब, तेलंगाना, बिहार और झारखंड ने केंद्र सरकार से विशेष ट्रेनें चलाने की मांग की है, जिससे मजदूर वापस आ सकें। वहीं, बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने भी यही मांग रखी है। उन्होंने केंद्र से कहा है कि बसों से लोगों को लाने में महीनों लगेंगे। हालांकि, केंद्र ने साफ कर दिया है कि फंसे लोग सिर्फ बसों से ही लाए जाएंगे

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने