जज़्बा ने किया अपना 100 वाँ SDP डोनेशन, रक्षाबंधन के अवसर पर एक अनजान बहन के जीवन का किया रक्षा



बिलासपुर । प्रमुख समाज सेवी संगठनों में से एक रक्तदान जागरूकता व थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों के लिए रक्त प्रबंध को समर्पित अग्रणी संस्था जज़्बा एजुकेशन एंड वेलफेयर सोसायटी, बिलासपुर ने रक्षाबंधन के अवसर पर सिम्स हॉस्पिटल बिलासपुर में भर्ती एक बहन के जीवन की रक्षा करते हुए अपना 100 वाँ SDP डोनेशन पूर्ण किया।

कोरोना काल में जब कोई व्यक्ति अनेक भ्रांतियों की वजह से अपने सगे-संबंधियों को रक्त देने से मना कर दे रहा है, ऐसी परिस्थितियों में जज़्बा उन मरीजों के लिए उम्मीद का सूरज बनकर चमक रहा है। इसी कड़ी में कल रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर जज़्बा के संयोजक संजय मतलानी को कॉल आया कि सिम्स में भर्ती एक महिला मरीज को SDP की आवश्यकता है। तब उन्होंने अनजान बहन की जीवन की रक्षा करने रक्षाबंधन पर्व बीच छोड़कर ब्लड बैंक की तरफ निकल पड़े।

संजय मतलानी ने अपने जज़्बा टीम के सभी समर्पित सदस्यों में से एक सदस्य महेन्द्र कुमार चतुर्थी (उपाध्यक्ष) को जिनका ब्लड ग्रुप O+ (पॉजिटिव) है को कॉल किया और उन्हें SDP डोनेशन के लिए तैयार कर लिया।
महेन्द्र कुमार चतुर्थी का यह 20 दिनों के भीतर तीसरा SDP डोनेशन था। जो कि अपने आप मे एक बड़ी उपलब्धि है। इस SDP डोनेशन के साथ जज़्बा ने अब तक SDP डोनेशन का स्वर्णिम शतक भी लगाया।

रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर एक अनजान बहन के प्राणों की रक्षा करते हुए जज़्बा टीम ने बताया कि रक्षाबंधन पर कलाइयों में बंधने वाले रक्षा-सूत्र का फ़र्ज़ कैसे अदा करना है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने