मोहेरा में पटवारी हमेशा रहते है नदारद ,किसानों एवं छात्राओं को हो रही परेशानी




पटवारी को अन्य जगह स्थानांतरित कर स्थाई पटवारी की मांग 


 पवन निषाद 
मगरलोड (धमतरी )।। राज्य सरकार के नुमाइंदे एक तरफ लोगों को सरकारी कामों मे सुविधा देने की बात करते है,मगर अधिकारी कर्मचारी अपने कार्यालय से नदारत रहते है।  जिससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है ।  मामला मगरलोड ब्लाक के आदिवासी वनांचल क्षेत्र ग्राम मोहेरा का है जहां पदस्थ  पटवारी से ग्रामीण त्रस्त है ।

मोहेरा  सरपंच कुलेश्वर साहू, घनश्याम सेन, तीजू निषाद ,नरोत्तम कश्यप ने  बताया कि  नागेश्वर साहू पटवारी  हल्का नंबर 32  हमेशा कार्यालय से नदारत रहते है ।  छोटे -छोटे कामों के लिए पैसे की मांग की जाती है जब किसान फोन करके बुलाते है तो कार्यालय में नहीं आते है। स्कूली  बच्चों को आय जाति ,निवास प्रमाण पत्र के लिए 35 किलोमीटर दूर मगरलोड कार्यालय बुलाया जाता है। जंगली रास्ते होने के कारण ग्रामीण एवं छात्रों को मगरलोड आने जाने में दिक्कत होती है । आगे किसानों ने बताया पटवारी किसानों के साथ दुर्व्यवहार करते है ।ग्रामीणों  ने शासन - प्रशासन से उक्त पटवारी का स्थान्तरण कर  स्थाई पटवारी की मांग की है।

 इस संबंध में पटवारी नागेश्वर साहू का कहना है कि दो जगह अतिरिक्त प्रभार होने के कारण व गिदावरी सर्वे के वजह से नहीं जा पाते। किसानों से पैसे की मांग आरोप झूठा है किसी से पैसे नहीं लिया जाता। सभी से सामान व्यवहार किया जाता है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने