आंध्र प्रदेश - अवैध संबंध में रुकावट बने प्रेमिका के बच्चों को तालाब में फेंका

 

                   प्यार के लिए महिला ने पार की दहलीज


 चित्तूर जिले में  विवाहित महिला से एक व्यक्ति के अवैध संबंध में रुकावट बने उसके बच्चों को तालाब में फेंकने के बाद प्रेमिका के साथ खुद भी कीटनाशक पीकर आत्महत्या की कोशिश करने का मामला सामने आया है। पति का घर छोड़कर साथ आई प्रेमिका के बच्चों को अपने रिश्ते में रुकावट मानते हुए व्यक्ति ने बीच रास्ते में उन्हें तालाब में फेंक दिया। यह अमानवीय घटना चित्तूर जिले के पुंगनुर निर्वाचन क्षेत्र की है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक पुलिचेर्ला मंडल के रामीरेड्डीगारीपल्ली गांव के वेंकटेश्वर रेड्डी का 9 साल पहले स्थानीय हेमाश्री के साथ विवाह हुआ था और उनके जुड़वे बच्चे पुनर्वी रेड्डी और पुनीत रेड्डी थे। इसी क्रम में कुछ महीने पहले हेमाश्री और उसी गांव के उदय कुमार के बीच नाजायज संबंध बन गए।  उदय कुमार हेमाश्री पर अपने साथ चलने का दबाव बनाने के साथ नहीं आने पर आत्महत्या करने की धमकी देने लगा तो वह पति का घर छोड़कर उसके साथ चलने को तैयार हो गई।
देर रात अपने मासूम बच्चों को लेकर महिला पति के घर की दहलीज पार करी और प्रेमी के साथ ऑटो में सवार होकर गांव से निकल गई, लेकिन रास्ते में प्रेमिका के बच्चे उनके रिश्ते में रुकावट बनने की आशंका से उदय कुमार ने रास्ते में सदुम मंडल के चिंतपर्तिवारीपल्ली के निकट नडिकोडुकुंटा (तालाब) में दोनों को फेंक दिया। प्रेमी की इस हरकत से भयभीत हेमाश्री अपने साथ लाया हुआ कीटनाशक पी गई। बच्चों को तालाब में फेंकने और प्रेमिका हेमाश्री के कीटनाशक पी लेने से भयभीत होकर उदय कुमार ने भी कीटनाशक खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की।
अगले दिन सुबह स्थानीय लोगों ने तालाब में बच्चों की लाशें देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंचने के साथ ही दोनों शवों को तालाब से बाहर निकाला। सबूतों के लिए आस-पास तलाशी के दौरान कीटनाशक पीकर बेहोश पड़े  मिले उदय कुमार और हेमाश्री को तुरंत 108 वहान से पिलेरु सरकारी अस्पताल भेज दिया। पुलिस मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई कर रही है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने