अब जिले से प्रतिदिन जारी होगा कोविड 19 संबंधी मीडिया बुलेटिन,होम आईसोलेशन के मरीजों को सलाह देने बनाया जाएगा कंट्रोल रूम


मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने वीडियो काॅन्फ्रेंस में दिए निर्देश


कोविड केयर सेंटरों में साफ-सफाई, समय पर भोजन की उपलब्धता की माॅनिटरिंग के लिए बनाए जाएंगे नोडल अधिकारी,कलेक्टर ने दिए निर्देश


धमतरी 06 सितंबर 2020। अब जिले से रोज मीडिया बुलेटिन जारी किया जाएगा, जिसमें कुल किए गए टेस्ट, निगेटिव, पाॅजिटिव कोरोना मरीज, जिले के कोविड केयर सेंटरों में उपलब्ध बिस्तर, आईसीयू में उपलब्ध बिस्तरों की जानकारी दी जाएगी। कलेक्टर  जय प्रकाश मौर्य ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.डी.के.तुर्रे को इसकी व्यवस्था और सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। दरअसल आज दोपहर डेढ़ बजे से प्रदेश के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने अपने निवास से वीडियो काॅन्फ्रंेसिंग के जरिए सभी कमिश्नर, कलेक्टर, आईजी, पुलिस अधीक्षक, सीईओ जिला पंचायत, आयुक्त नगरनिगम और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक लेकर कोरोना संक्रमण और इलाज की व्यवस्था की समीक्षा की, जिसमें उन्होंने प्रतिदिन कोरोना संबंधी मीडिया बुलेटिन जिलों से जारी करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार कलेक्टर ने डाॅ.तुर्रे को होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीजों के लिए एक काॅल सेंटर बनाने को कहा है, जिसमें 24 घंटे लोगों की ड्यूटी लगाई जाएगी, जिससे कि टेली कंसलटेशन के जरिए मरीजों को आवश्यक चिकित्सकीय सलाह दी जा सके।

होम आइसोलेशन पर नई गाइडलाइन

साथ ही वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में दिए गए निर्देशानुसार जिले में बिना लक्षण एवं हल्के लक्षण वाले कोविड के मरीजों को होम आईसोलेशन में रखा जाएगा। इसके लिए मरीज के घर में अब तीन बेडरूम की अनिवार्यता को शिथिल करते हुए टाॅयलेट-बाथरूम के साथ अटैच बेडरूम वाले घरों में होम आईसोलेशन किया जा सकेगा। इसके साथ ही अगर परिवार में किसी एक व्यक्ति की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है, तो सभी सदस्यों की कोविड जांच कराने के बजाय, परिवार के उन सदस्यों की जांच की जाएगी, जो कि 65 साल से अधिक आयु, गंभीर बीमारी से ग्रसित, गर्भवती महिला इत्यादि हों। होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीजों को प्रोफिलेक्टिक मेडिकल कीट के साथ दिशा-निर्देशों संबंधी एक पर्ची भी उपलब्ध कराई जाएगी।  वीडियो काॅन्फ्रेंस में बताया गया है कि होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीजों के लिए दिशा-निर्देशों संबंधी फाॅर्मेट में एकरूपता लाने इसे प्रदेश स्तर पर तैयार कर जिलों में उपलब्ध कराया जाएगा। कलेक्टर ने इसके मद्देनजर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को इस पर्ची को अनिवार्यतः होम आईसोलेशन के मरीजों को दवाई कीट के साथ उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

कोविड सेंटर में होगी नियमित साफ-सफाई

 सभी कोविड केयर सेंटरों में चिकित्सकों को नियमित रूप से निरीक्षण करने भी कलेक्टर ने निर्देशित किया है। अगर किसी वजह से डाॅक्टर राउंड में नहीं आ पा रहे तो, मरीज को वीडियो काॅलिंग कर सकते हैं।
वीडियो काॅन्फ्रेंस में मिले निर्देशानुसार सभी कोविड केयर अस्पतालों में साफ-सफाई, शौचालय में पानी की उपलब्धता और समय पर मरीजों को भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था भी सुनिश्चित करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए हैं। इसके लिए जिले में नोडल अधिकारी भी बनाए जाएंगे, जो कि प्रतिदिन संबंधित केन्द्रों में साफ-सफाई, शौचालय की सफाई एवं पानी की व्यवस्था तथा भोजन इत्यादि का माॅनिटरिंग करेंगे। बैठक में यह भी बताया गया कि अगर कोई कोविड पाॅजिटिव मरीज है, तो उसे एम्बूलेंस की बजाय स्वयं के वाहन में अस्पताल लाया जा सकता है। इस मौके पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जिले के कोविड अस्पताल में एन 95 मास्क, पीपीई किट, पल्स आॅक्सीमीटर, दवाईयां, आॅक्सीजन सिलेंण्डर इत्यादि पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। वीडियो काॅन्फे्रंस के दौरान मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत नम्रता गांधी, आयुक्त, नगरपालिक निगम आशीष टिकरिहा, अपर कलेक्टर  दिलीप अग्रवाल उपस्थित रहे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने