डेढ़ लाख से अधिक घरों के सर्वे के बाद 4382 लक्षण सहित पाए गए, 284 मिले कोरोना पॉजिटिव

 


5 से 12 अक्टूबर तक चला सघन सामुदायिक सर्वे अभियान


भूपेंद्र साहू

धमतरी।जिले में कोरोना संक्रमण के प्रसार को कम करने के लिए जिला प्रशासन के दिशा निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा 5 से 12 अक्टूबर तक सघन सामुदायिक सर्वे अभियान चलाया गया । इस दौरान लगभग प्रत्येक गांव में  स्वास्थ्य विभाग के साथ अन्य विभाग व संस्था की टीम पहुंची और लोगों को चिन्हित कर उनका करोना टेस्ट कराया । इससे निश्चित ही आगे संक्रमण के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी। 5 से 12 अक्टूबर तक 4 ब्लॉक और शहर को मिलाकर 165360 घरों का सर्वे किया गया जिसमें 284 मरीज कोरोना संक्रमित पाए गए। इस सर्वे में उच्च जोखिम समूह के व्यक्तियों की संख्या भी प्राप्त हो गई जिससे भविष्य में स्वास्थ्य सुविधा देने में मदद मिलेगी।



शहर में 17096 घरों का सर्वे कराया गया जिसमें 100 लक्षण सहित पाए गए। इसमें से उच्च जोखिम के 29 थे। 129 लोगों का एंटीजन टेस्ट कराया गया जिसमें 11 पॉजिटिव पाए गए ।नेगेटिव आने वालों में 53 लोगों की  पुनः rt-pcr जांच की गई जिसमें कोई भी पॉजिटिव नहीं पाया गया। शहर में उच्च जोखिम समूह के अंतर्गत 60 वर्ष से अधिक के 12, 5 वर्ष से कम आयु के बच्चे 5, हाई बीपी शुगर के 10, सिकल सेल के दो मरीज पाए गए। इसमें कैंसर, किडनी रोग ,टीवी और एड्स के कोई भी मरीज नहीं मिले हैं।


गुजरा ब्लॉक में 37779 घरों का सर्वे कराया गया जिसमें लक्षण वाले 713 लोगों पाए गए। इसमें से 240 उच्च जोखिम के थे। 772 लोगों का एंटीजन टेस्ट किया गया जिसमें 50 पॉजिटिव मिले। नेगेटिव आने वालों में 71 का ट्रू नॉट और 394 का rt-pcr पुनः किया गया जिसमें कोई भी पॉजिटिव नहीं मिला। गुजरा ब्लॉक में हुए सर्वे में 60 वर्ष से अधिक में 132, गर्भवती महिला 17, 5 वर्ष से कम आयु के बच्चे 62, हाई बीपी शुगर के 23 और सिकल सेल के 6लोग मिले। कैंसर किडनी और एड्स के कोई भी मरीज नहीं पाया गया



कुरूद ब्लाक में सबसे अधिक 43202 घरों का सर्वे कराया गया, जिसमें लक्षण वाले 1553 चिन्हाकित हुए ।उच्च जोखिम के 190 मिले। 1547 लोगों का एंटीजन टेस्ट कराया गया जिसमें से 116 पॉजिटिव मिले। नेगेटिव आने वालों में 119 का ट्रू नॉट और 389 का पुनः rt-pcr कराया गया जिसमें कोई पॉजिटिव नहीं पाया गया।उच्च जोखिम समूह के अंतर्गत 60 वर्ष से अधिक में 97, गर्भवती महिला 10, 5 वर्ष से कम आयु के बच्चे 53 थे ।हाई बीपी,शुगर के 29 और सिकलिंग के एक मरीज मिले। किडनी कैंसर टीबी,एड्स मरीजों की पहचान नहीं हुई।


मगरलोड ब्लाक में 26434 घरों का सर्वे किया गया जिसमें 862 लक्षण सहित व्यक्ति पाए गए। उच्च जोखिम के 213 थे। 736 लोगों का एंटीजन टेस्ट किया गया जिससे 51 पॉजिटिव मिले।नेगेटिव आने वालों में 70 का ट्रू नॉट, 394 का rt-pcr किया गया जिसमें कोई पॉजिटिव नहीं मिले। उच्च जोखिम समूह के अंतर्गत  60 वर्ष से अधिक के 108, गर्भवती महिला 37,5 वर्ष से कम आयु के बच्चे 47, हाई बीपी शुगर के 19 और टीबी के 2 मरीज मिले। कैंसर किडनी सिकल सेल और एड्स के कोई भी मरीज नहीं पाए गए।

नगरी ब्लाक में 40849 घरों का सर्वे किया गया जिसमें लक्षण वाले 1154 पाए गए। 322 उच्च जोखिम के मिले। 1013 लोगों का एंटीजन टेस्ट किया गया जिसमें से 56 पॉजिटिव पाए गए। नेगेटिव आने वालों में 27 का ट्रू नॉट 711 का rtpcr किया गया जिसमें कोई भी पॉजिटिव नहीं पाया गया। उच्च जोखिम समूह के अंतर्गत 151लोग 60 वर्ष से अधिक गर्भवती महिला67, 5 वर्ष से कम आयु के बच्चे 47, हाई बीपी शुगर के 53, कैंसर और किडनी रोग के एक, टीबी के एक, सिकलसेल के दो मिले एड्स कोई भी मरीज नहीं पाया गया।।


इस तरह से धमतरी जिले में 5 से 12 अक्टूबर तक 165360 घरों का सर्वे किया गया जिसमें लक्षण सहित 4382 लोग पाए गए ।इसमें से उच्च जोखिम के 994 थे। 4197 लोगों का एंटीजन टेस्ट किया गया जिसमें 284 पॉजिटिव पाए गए ।नेगेटिव आने वालों में 287 लोगों का ट्रूनेट और 1941 लोगों का rtpcr  किया गया जिसमें कोई भी पॉजिटिव नहीं मिला। उच्च जोखिम के अंतर्गत जिले में 60 वर्ष से अधिक के500, गर्भवती महिलाएं 131, 5 वर्ष से कम आयु के बच्चे 214 उच्च रक्तचाप और शुगर के 134 ,किडनी कैंसर के 1,टीबी के 3,सिकलसेल के 11 मरीज मिले। जबकि एड्स का कोई भी मरीज नहीं पाया गया।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने