जिला अस्पताल में निश्चेतना विशेषज्ञ सहित मिले कई नए चिकित्सक

 

रेडियोलॉजिस्ट की कमी बरकरार



भूपेंद्र साहू

धमतरी।जिला चिकित्सालय धमतरी के विभिन्न विभागों में कई नए चिकित्सकों की पदस्थापना हुई है। जिससे अब वहां सुविधाएं बढेंग़ी। निश्चेतना, स्त्री रोग, पैथालाजी, हड्डी रोग विभागों के अलावा अन्य चिकित्सक मिले हैं। अब जिला चिकित्सालय में 28 डॉक्टर हो चुके हैं। 



धमतरी जिला चिकित्सालय में न सिर्फ धमतरी बल्कि आसपास के बालोद, दुर्ग, कांकेर, गरियाबंद जिलों से भी मरीज पहुंचते हैं। सामान्य दिनों में यहां की ओपीडी पांच सौ के औसत होती है। हालांकि अभी कोरोना की वजह से कम हो गया है। सभी वार्डो के बिस्तर भी लगभग फुल रहते हैं। कई विशेषज्ञ के पद खाली पड़े  थे। जिसमें से ज्यादातर पद अब भर चुके हैं। 



वर्तमान में निश्चेतना विशेषज्ञ के रूप में डॉ. स्वीटी नंदा ने ज्वाईन किया है।  वर्तमान में डॉ.ध्रुव  निश्चेतना का कार्य कर रहे थे। अब इस विभाग में दो चिकित्सक हो गये हैं। दो नये चिकित्सा अधिकारी मिले है जिसमें से एक हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. राकेश साहू और एक डॉ. मेहताब अहमद है। इसके अलावा स्त्री रोग विभाग में डॉ. हर्षा जिचकर ज्वाइन की है। डॉ. टीएस ध्रुव भी अपना कोर्स पूरा कर वापस लौट चुके है।अभी स्त्री रोग विभाग में डॉ रागिनी ठाकुर, डॉ नेहा साहू,डॉ प्रियंका थे। पैथालॉजी विभाग में डॉ. मधुरी वानखेडे के जाने के बाद डॉ. मूर्ति ही पैथालॉजी और सिविल सर्जन का कार्य देख रहे थे। अब इस विभाग में डॉ. पूर्वी अग्रवाल की भी पदस्थापना हुई है। वर्तमान में सिर्फ रेडियोलॉजिस्ट की कमी रह गई है। इसके मिल जाने से सोनोग्राफी का काम भी शुरू हो सकता है। उम्मीद है कि अब इतने चिकित्सकों के मिल जाने के बाद जिला अस्पताल में सुविधाएं और बढ़ेंगी। 



इस मामले में सिविल सर्जन डॉ. एमएस मूर्ति ने बताया कि पूर्व में दो साल के बांड पर  तीन चिकित्सक आये हैं। अभी निश्चेतना, स्त्री रोग, पैथालॉजी के अलावा अन्य नये चिकित्सक मिले हैं। जिला चिकित्सालय में अब 28 डॉक्टर हो चुके हैं। रेडियोलॉजिस्ट के लिए प्रयास किया जा रहा है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने