शासन की फ्लैगशीप योजनाओं का हो जिले में बेहतर क्रियान्वयन - कलेक्टर

 


गरियाबंद / कलेक्टर श्री निलेशकुमार क्षीरसागर ने आज समय-सीमा प्रकरणों की समीक्षा बैठक में विभागवार लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को समय-सीमा प्रकरणों का निराकरण समयावधि में करने के निर्देश दिये। 


समीक्षा बैठक में ने कहा कि अधिकारी प्रकरण लंबित न रखे। सभी एसडीएम सीमांकन सहित राजस्व प्रकरणों के निराकरण और आर.आर.सी वसूली हेतु अभियान चलाये। शासकीय उचित मूल्य के दुकानों का युक्तियुक्तकरण शासन के मार्गदर्शी निर्देशों के तहत किया जाए। सभी विभाग प्राप्त लक्ष्य के मुताबिक कार्य को प्राथमिकता देवे। रेत के अवैध उत्खनन की रोकथाम हेतु कड़ी कार्यवाही की जाए। कलेक्टर ने जिले में शासन की फ्लैगशीप योजनाओं के क्रियान्वयन पर जोर देते हुए कहा कि सभी विभाग योजनाओं का बेहतर क्रियान्वयन करना सुनिश्चित करें। साथ ही उपलब्धियों का विभागीय तौर पर व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। उन्होंने शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूल में शिक्षक एवं कर्मचारी प्रतिनियुक्ति पर नियुक्त करने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने जिले के अन्य विकासखण्डों में भी अंग्रेजी माध्यम स्कूल हेतु वर्तमान में संचालित स्कूलों का चयन करने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर ने सभी जनपद सीईओ को जिले के गौठानों को मल्टी युटिलिटी सेंटर के रूप में विकसित करने कहा। उन्होंने कहा कि जिले में स्वीकृत सभी गौठान निर्माण कार्य पूर्ण किया जाना है। गौठान मुख्य सड़क मार्ग के आसपास ही बनायी जाए। इसी प्रकार डोंगरीगांव स्थित बांस हस्तशिल्प कला केन्द्र को भी स्वरोजगार केन्द्र के रूप में विकसित किया जाए। सभी विभाग केन्द्र में निर्मित कार्यालयीन उपयोगी समान की खरीदी हेतु ग्रामोद्योग विभाग से करना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने धान खरीदी की समीक्षा करते हुए कहा कि धान उपार्जन केन्द्रों के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी जिला प्रशासन के कार्य योजना के अनुसार उपार्जन केन्द्रों में धान की खरीदी कराये। क्षेत्र के छोटे किसानों की धान खरीदी पहले हो। खरीदी केन्द्रों का नियमित भ्रमण कर बारदाने की उपलब्धता एवं अन्य आवश्यक व्यवस्था देखे। आगामी 15 जनवरी तक 80 से 90 प्रतिशत तक छोटे किसानों की धान खरीदी हो जाए, यह सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर ने धान खरीदी पश्चात राशि भुगतान हेतु सीसीबी के नोडल अधिकारी को तथा संवेदनशील चिन्हित उपार्जन केन्द्रों में हो रही अधिक धान की खरीदी पर सहायक पंजीयक सहकारी समिति को ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को जिला कार्यालय स्थित धान खरीदी नियंत्रण कक्ष/काॅल सेंटर में किसानों से प्राप्त शिकायतों का निराकरण करने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर श्री क्षीरसागर ने सभी एसडीएम को राईस मिलर्स और पीडीएस दुकानों से बारदानें की व्यवस्था करने तथा धान कोचियो पर कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उपार्जन केन्द्रों से धान परिवहन व्यवस्था भी ठीक हो, परिवहन हेतु जीपीएस युक्त बड़े वाहनों ट्रक/ट्रेलरों का उपयोग किया जाए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्रचन्द्रकांत वर्मा, एडीएम श्री जे.आर. चैरसिया, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती ऋषा ठाकुर सहित सभी जिला अधिकारी उपस्थित थे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने