एक तरफ गांधीजी के धमतरी प्रवास को 100 साल पूरे हो रहे हैं दूसरी तरफ उनके पोस्टर पड़े हैं कचरे में

 


भूपेंद्र साहू

धमतरी।राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के धमतरी और छत्तीसगढ़ प्रवास को 100 साल पूरे होने वाले हैं आज सभी धमतरीवासी गर्व से कहते हैं कि महात्मा गांधी कंडेल और धमतरी आकर नहर सत्याग्रह में हौसला बढ़ाया था। छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार शताब्दी वर्ष मनाते हुए कंडेल में बड़े कार्यक्रम आयोजित  किए थे। लेकिन आज उसी गांधी जी के पोस्टर कचरों की ढेर में है जिसकी कोई सुध लेने वाला नहीं है।

 नगर निगम धमतरी के सभा हाल में महात्मा गांधी की स्मृतियों को सहेजने तस्वीर लगाई गई थी। जिसे निकाल कर ऐसे जगह पर रखा गया है जहां पर कचरे के ढेर हैं ।इसके विरोध में 20 दिसंबर को पदयात्रा निकाली जा रही है। 21 दिसंबर 1920 को कोलकाता राष्ट्रीय अधिवेशन से महात्मा गांधी सीधे छत्तीसगढ़ पहुंचकर कंडेल नहर सत्याग्रह में बाबू छोटेलाल श्रीवास्तव, सुंदरलाल शर्मा ,नत्थूजी जगताप, नारायणराव मेघा वाले, शोभा राम देवांगन,हजारी लाल जैन सहित अन्य स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ शामिल हुए थे। उनकी यादों को सहेजने पूर्व नगर पालिका और नगर निगम कार्यकाल के दौरान सभा हाल में फ्लेक्स पोस्टर लगाए गए थे।

 21 दिसंबर 2020 को 100 वर्ष पूरे होने जा रहे हैं ऐसे में उनकी स्मृतियों के पोस्टर को निकालकर कूड़े के जगह में फेंक देना यह कहां तक उचित है। इस मामले को लेकर पूर्व जनपद अध्यक्ष प्रियंका सिन्हा रविवार को कंडेल से धमतरी तक पदयात्रा निकलेंगी। उसके बाद भी ठोस पहल ना होने पर सोमवार को मौन सत्याग्रह कर ज्ञापन सौंपा जाएगा।

 गांधी जी के पोस्टर के मामले में महापौर विजय देवांगन ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है वह जल्द इस को दिखाते हैं।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने