जिले के हर विकासखण्ड में लगाए जाएंगे जनचौपाल शिविर

 


समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश

धमतरी 22 दिसम्बर 2020। जिले में जल्द ही पहले, चौथे और पांचवें शनिवार को योजनाओं की प्रगति की आडिटिंग की जाएगी। इसके लिए जिले के हर विकासखण्ड में जनचैपाल शिविर लगाए जाएंगे। दूरस्थ अंचलों में लगाए जाने वाले इन शिविरों में 20 पंचायतों का क्लस्टर बनाया जाएगा। शिविर के पहले ही विभिन्न मांग और शिकायत संबंधी आवेदन ले लिए जाएंगे। 

कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समय सीमा की बैठक लेते हुए कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने आगामी मई माह तक के लिए जनचैपाल शिविरों की तिथि तय कर एक दिन के भीतर उपलब्ध कराने के निर्देश सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को दिए हैं। उन्होंने जोर दिया कि इन जनचैपाल शिविरों में लोगों की समस्याओं का निराकरण यथासंभव करने का प्रयास किया जाए।



 कलेक्टर ने बताया कि माह के हर कार्य दिवस शनिवार को ब्लाॅक में आयोजित होने वाले इन शिविरों में से एक शिविर में सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहेंगे। इसके अलावा ब्लाॅक स्तरीय आयोजित होने वाले बाकी शिविरों में सभी ब्लाॅक स्तरीय अधिकारी अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेंगे। इसके साथ ही राजस्व मामलों का निराकरण करने के लिए भी सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व शिविर में मौजूद रहेंगे।

बैठक में कलेक्टर ने चालू खरीफ विपणन वर्ष में समर्थन मूल्य पर की जा रही धान खरीदी की समीक्षा करते हुए सभी नोडल अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे प्रत्येक शनिवार को केन्द्रों का दौरा कर वहां की जा रही धान खरीदी, बारदानों की उपलब्धता सहित धान उठाव की माॅनिटरिंग कर पंजी का निरीक्षण करना सुनिश्चित करें। बताया गया कि चालू खरीफ विपणन वर्ष में जिले के 56579 पंजीकृत किसानों से अब तक एक लाख 62 हजार 160 मीट्रिक टन धान खरीदी की गई है। इस साल 31 जनवरी तक चार लाख 39 हजार 800 मीट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा गया है। 

कलेक्टर ने निर्देशित किया कि जिले में जहां भी फोरलेन निर्माण कार्य पैच में पूरा हो गया है, राष्ट्रीय राजमार्ग और लोक निर्माण विभाग उन स्थानों में सड़क हादसों की संभावनाओं को कम से कम करने जगह-जगह सूचना पटल, रिफ्लेक्टर इत्यादि लगाएं।


 

मुख्यमंत्री और कलेक्टर जनचैपाल के लंबित आवेदनों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर ने उन्हें प्राथमिकता और संवेदनशीलता से निराकृत करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि आवेदनों का गुणवत्तापूर्वक निराकरण के साथ ही यथाशीघ्र आवेदक को भी सूचित करना सुनिश्चित करें, ताकि आवेदक को जानकारी हो सके। बैठक में वनमण्डलाधिकारी  सतोविशा समाजदार, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत  नम्रता गांधी, अपर कलेक्टर  दिलीप अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अधिकारी और वीडियो काॅन्फ्रेंस के जरिए सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं ब्लाॅक स्तरीय अधिकारी जुड़े रहे।      

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने