देशव्यापी बंद का धमतरी में भी दिखा असर, सुबह से ही कांग्रेसी व अन्य संगठन निकले बंद कराने

 



धमतरी।केंद्र सरकार द्वारा देश में लागू की गई तीन कृषि बिल के विरोध में दिल्ली बार्डर में किसान डटे हुए हैं कई दौर की बातचीत के बाद भी समझौता नहीं हो पाया है आखिरकार किसानों ने 8 दिसंबर को देशव्यापी बंद का ऐलान किया।जिसे कांग्रेस व अन्य पार्टियों ने समर्थन दिया।


कांग्रेस के राष्ट्रीय व प्रादेशिक आव्हान पर धमतरी में भी कांग्रेसियों ने बंद की अपील की।पूरे देश मे कांग्रेस ने भारत बंद का आव्हान किया था। सुबह से ही कांग्रेस जिला अध्यक्ष शरद लोहाना के नेतृत्व में पूर्व विधायक हर्षद मेहता,महापौर विजय देवांगन, मोहन लालवानी, निशु चंद्राकर, अनुराग मसीह,आनंद पवार सहित  अन्य पदाधिकारी व कांग्रेस कार्यकर्ता  लोगों से दुकान बंद कराने  की अपील करते हुए निकल पड़े।  मुख्य मार्गों की लगभग सभी दुकाने बंद रही। पेट्रोल पंप, होटल पांन दुकानें भी बंद दिखाई दी। हालांकि गलियों की दुकान है पर उतना असर नहीं दिखाई दिया।2 बजे तक दुकाने बन्द रही।इसके बाद व्यापारिक प्रतिष्ठाने खुलने लगी।इस दौरान कांग्रेसियों ने केंद्र द्वारा लागू की गई कृषि विधेयक को काला कानून और किसान विरोधी बताकर केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। 


बंद को आम आदमी पार्टी किसान संघ, चेंबर ऑफ कॉमर्स माकपा एवं विभिन्न संगठनों ने समर्थन दिया था।जिसके पदाधिकारी भी बंद कराने निकले थे।कुछ संगठनों ने इस बिल के विरोध में प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी सौंपा।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने