महिला शक्तिकरण को बढ़ावा देने पहुंची महिला प्रबंध संचालक

 



नगरी-कई वर्ष पश्चात धमतरी वन मंडल में महिला वनमण्डलाधिकारी की नियुक्त हुई है, कमान सम्हालते ही महिला उत्थान के कार्य मे जुट गई है।

उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा महिलाओं को रोजगार देकर आर्थिक रूप से सुदृण करने की दिशा में समर्थन मूल्य योजनांतर्गत 52 लघु वनोपज की खरीदी महिला स्व सहायता समूहों के माध्यम से कराई जा रहीं है ताकि इसके माध्यम से हर्बल खाद्द प्रसंस्करण केंद्र को बढ़ावा मिला सके।

 


वनौषधि गुणवत्ता के विभिन्न उत्पादों का प्रसंस्करण कार्य सीमा स्व सहायता समूह द्वारा संचालन किया जा रहा है जिसका मूल उद्देश्य समूह की महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराते उनकी आर्थिक एवं सामाजिक सुधार लाना है।


कहते है महिला शक्ति का रूप होती है। धमतरी वनमंडल में महिला प्रबंध संचालक की नियुक्ति कुछ दिनों पूर्व ही हुई है कमान सम्हालते ही उन्होंने ने उन्होंने अपना कर्म क्षेत्र महिला शक्तिकरण को चुना है। समूचे परिक्षेत्र में लगातार दौरा कर महिला स्व सहायता समूहों से मुलाकात कर लघु वनोपज के संग्रहण, प्रसंस्करण के संबंध में महिलाओं से चर्चा कर इनके रोजगार को बढ़ाने का प्रयत्न और सुझाव धमतरी नवनियुक्त डीएफओ एवं प्रबंध संचालक सातोविसा समाजदार द्वारा किया जा रहा है। उनकी प्राथमिकता है, ग्राम पंचायतों के गौठान में कंद व लेमन ग्रास रोपण करना।  


गौठानो में महिला समूह कार्यरत है जहाँ महिलाओं के द्वारा तीखुर, बैचाँदी कंद सहित लेमन ग्रास का रोपण कर दिया जाए तो गौठान में कार्यरत महिलाओं को रोजगार तो मिलेगा ही लघु वनोपज में लगे स्व सहायता में लगे महिलाओं के इनकम में भी इजाफा होगा जिसकी कार्य योजना जिला पंचायत सीईओ के साथ मिलकर बनाई गई है। नए-नित सोच के साथ कार्य क्षेत्र में पहुचकर महिलाओं से चर्चा की जा रही है उनकी समस्याओं से रूबरू होकर उनका हल निकालने का प्रयास भी वनमंडलाधिकारी द्वारा किया जा रहा है। 



इसी तारतम्य में 26 दिसम्बर शनिवार को केरेगांव परिक्षेत्र में बैठक ली गई।धूप बत्ती निर्माण कार्य मे लगी सरस्वती महिला स्व सहायता समूह केंद्र का निरीक्षण कर हाट बाजार पहुची समूह की महिलाओं से रूबरू होकर उनका उत्साहवर्धन किया। इस दौरान धमतरी, डोकाल, केरेगांव के स्टाफ मौजूद रहे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने