कन्या शाला के वरिष्ठ व्याख्याता वेदनाथ चन्द्राकर के कार्यकाल को याद रखा जाएगा

 


मुकेश कश्यप

कुरुद। शासकीय कन्या उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय कुरुद के वरिष्ठ व्याख्याता वेदनाथ चन्द्राकर को सेवानिवृत होने पर शाला विकास एवं प्रबंधन समिति व विद्यालय परिवार ने भावभीनी विदाई दी।इस अवसर पर शाला परिसर में विदाई समारोह आयोजित किया गया।मुख्य अतिथि  वेदनाथ चन्द्राकर रहे।अध्यक्षता तपन चन्द्राकर नगर पंचायत कुरुद ने की ।विशिष्ट अतिथि आशीष शर्मा जिला प्रवक्ता कांग्रेस एवं अध्यक्ष जनभागीदारी समिति,सीके साहू विकासखंड शिक्षा अधिकारी,प्रतिभा ध्रूव सहायक विकासखंड शिक्षाधिकारी,डीपी देवांगन प्राचार्य ,नसरीन रज्जाक सदस्य शाला विकास समिति,संध्या कश्यप अध्यक्ष ब्लॉक कांग्रेस महिला,विशाखा साहू ,राखी चन्द्राकर पार्षद ,नेमीचन्द बैस ,ज्योति साहू ,मुकेश कश्यप,पप्पू राजपूत थे।


  मुख्य मंच के माध्यम से श्री चन्द्राकर  को उपस्थित अतिथिओं द्वारा पुच्छगुच्छ और स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया गया एवं लंबे अरसे से शिक्षा विभाग में किये गए योगदान को याद किया गया।नगर पंचायत अध्यक्ष तपन चन्द्राकर ने वेदनाथ सर के योगदान को अविस्मरणीय बताया।कहा वे हम सबको हमेशा से ही हर पथ पर प्रेरित करते रहे।


प्राचार्य श्री देवांगन ने वेदनाथ सर के संस्था के लिये किये गए अब तक के योगदान का वर्णन किया ,साथ ही एक शिक्षक के रूप में उनके अब तक के सफर को ऐतिहासिक बताया।संस्था के वरिष्ठ व्याख्याता नूतन लाल चन्द्राकर ने अभिन्दन पत्र पढ़कर चन्द्राकर  के अब तक के सफर का वर्णन किया,साथ ही संस्था में उनके किये गए अविस्मरणीय योगदान का वर्णन किया,उनके नाम के महत्व का वर्णन किया।


शाला विकास समिति के अध्यक्ष एवं जिला प्रवक्ता कांग्रेस आशीष शर्मा ने कहा कि श्री चन्द्राकर कुरुद एवं पूरे जिले में शिक्षा विभाग में ऐतिहासिक योगदान के लिये जाने जाएंगे।उन्होंने हमेशा से हम सबको लक्ष्य तक पहुंचने एवं कड़ी मेहनत करते रहने को सिखाया है।

     सेवानिवृत्त हो रहे श्री वेदनाथ ने इस विदाई कार्यक्रम के लिये हार्दिक आभार एवं धन्यवाद करते हुए कहा कि अपने कार्यकाल में उन्होंने जितने भी शिक्षकों के साथ कार्य किया और जिन विद्याथियो को पढ़ाया उनको याद करते हुए अपनी इस सफलता में उनको भी साथी माना।शिक्षक एवं शिक्षा के क्षेत्र में योगदान को उन्होंने विस्तृत रूप से वर्णित किया।



छात्रा परिषद की ओर से चेतना सिन्हा और सरिता चक्रधारी और  मंच में उपस्थित अन्य अतिथिओं ने भी सम्बोधित किया।छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ धमतरी की ओर से भी सर का अभिनंदन किया गया।कार्यक्रम का सन्चालन सीपी पटेल एवं आभार प्रदर्शन बीके निर्मल ने किया।

        इस अवसर पर राजेश शर्मा ,देवेंद्र दादर,नूतन लाल चन्द्राकर,कुलेश्वर सिन्हा,कमलेश शर्मा,डॉ.जे एल गुहा ,डी के साहू, एनएस ध्रूव,नागमणी नायडु ,उषा देवांगन,जया सोनवानी ,कोमल राम ध्रूव, मनोज टण्डन,केशवदास मानिकपुरी,अविनाश साहू ,प्रज्ञा तिवारी,निशा पटेल,ए.मनीषा नायडू,वत्सला चन्द्राकर,भीषम साहू,प्रीति कंवर,दुविका ठाकुर, टिकेश ध्रूव,लीना चन्द्राकर,बीके बांदे,दीप्ति साहू,संतोषी महावर,विनीता साहू,कविता नागवानी, फनेन्द्र कुमार ध्रूव,रमाकांत सिन्हा,मनीषा देव ,एच के साहू, मुकेश यादव,पूनम ठाकुर,त्रिवेणी बिसेन,पार्वती,रेखा साहू,वेदप्रकाश ध्रूव , ,,पूर्व छात्रा फ़नेश्वरी , योगेश्वरी , हेमवर्षा , अंजू ,सहित शिक्षक स्टाफ उपस्थित थे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने