रात्रि मे फिर मचाया गजराज ने छिपली मे आतंक

 


किसानो के फसलो के साथ घरो मे पहुंचाया नुकसान


नगरी।ब्लाक मुख्यालय से लगे ग्राम छिपली मे अब तेंदुए के आतंक के बाद  दो दिन से जंगली हाथियों  ने  आतंक मचा रखा है ।शुक्रवार रात्रि लगभग  7:30  बजे सम्बलपुर की ओर आने की आहट से वन विभाग की टीम ने ग्राम मे मुनियादी कर लोगो को सचेत कर दिया था। गांव मे लोग जगह जगह आग जलाकर अपनी सुरक्षा मे लगे रहे ।लगभग  9:45 बजे हाथियो का झुंड महाविद्यालय के पीछे जंगल की ओर से गौठान होते हुए राजीव साहू के द्वारा रबि फसल के लिए लगाए थरहा को नुकसान पहुंचाते हुए नगरी मीरा राईस मिल को जा रहे थे। 


उधर वन विभाग की टीम पहले से ही तैयारी मे लगा हुआ था ।साथ मे केलाबाडी के कर्मचारी आग जलाकर बैठे हुए थे।जिससे हाथियो का झुंड फिर छिपली की ओर वापस आकर लीलाधर साहू के फसल को नुकसान पहुंचाया और फिर कालेज के पास ही मोण्ठू लहरे के घर दीवार और शौचालय को रौंदते हुए सुबह-सुबह छिपली मे मुरूमखांचा जंगल मे अभी डेरा जमाऐ है। वन विभाग की टीम अभी तक गश्त लगाकर निगरानी कर रहे है।


डीएफओ संतोविशा समाजदार के निर्देशन में प्रशिक्षु आईएफएस आलोक बाजपाई के नेतृत्व में रात भर पहरेदारी की जा रही है। शुक्रवार की रात श्री बाजपेई ने गज वाहन पर सवार रहकर पूरे जंगल का मुआयना किया नगरी लोकेशन के बाद तीन गाड़ियों से विभागीय अधिकारी कर्मचारी डिपो रोड़ पहुचकर आवश्यक कार्रवाही की। पूरा वन अमला हाथियों के निरीक्षण में लगे है जिनके सहयोग देने बाहर से उड़नदस्ता और गज वाहन टीम भी पहुची है।कुछ शरारती तत्व यह जानते हुए भी जंगल मे गजराज दल है फिर भी अपनी जान जोखिम में डालकर जंगल पहुच जाते है। ऐसे लोगो से विभाग ने जंगल ना जाने की नशीहत देते प्रशासनिक कार्य मे गांव वालों से मदद की अपील की है।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने