कुरुद में सादगी से मना रंगों का महापर्व होली

 

      


कुरुद।नगर व अंचल में रंगों का महापर्व होली पूरी सादगी के साथ मनाया गया।प्रेम ,भाईचारे और सबको एक सूत्र में जोड़ने वाले इस त्यौहार का उत्साह हर वर्ग में देखते ही बन रहा था।कोविड 19 के बढ़ते प्रभाव के बावजूद लोगो के उत्साह में कोई कमी नही आई।कोई घर पर ही रहकर सोशल मीडिया के माध्यम से तो कोई सभी से प्रत्यक्ष रूप से मिलकर साल के इस महापर्व को मनाने में डूबा रहा।आमजनों ने घर पर ही रहकर परिवार के बीच ही आपस मे खुशियां बांटकर रंग के पर्व को खास बनाया।


         नगर के समाजसेवी सन्तोष प्रजापति व मुकेश कश्यप ने सभी जनप्रतिनिधियों के घरों में जाकर उन्हें प्रेम व समरसता का रंग लगाकर होली का त्यौहार सादगी से मनाया।उन्होंने नीलम चन्द्राकर ,रमेश पांडेय,आशीष शर्मा,देवव्रत साहू, प्रमोद साहू ,मनीष साहू ,सन्ध्या कश्यप ,मनोज अग्रवाल, गोविंद मगर ,तुकेश साहू सहित अन्य गणमान्यजनो से उनके निवास में पहुंचकर पूरी सादगी के साथ रंगों के इस उत्सव की खुशी को बिताया।सभी को त्यौहार की बधाई देते हुए उन्होंने जींवन में भी प्रेमव्यहार के रंग को बरकरार रखने की बात कही।

 नीलम चन्द्राकर के निवास में पूरे उत्साह के साथ मना रंगों का होली

कोविड 19 के बढ़ते प्रभाव के बीच नगर सहित ग्रामीण अंचलों में रंगों का महापर्व होली पूरी सादगी व प्रेमव्यहार के साथ मनाया गया। सुबह 11 बजे से नगर के जनप्रतिनिधि पूर्व जिला पंचायत सदस्य नीलम चन्द्राकर के निवास में शुभचिंतको का होली मिलन पर मेल-मिलाप जारी रहा।हालांकि गाइडलाइन के पालन को देखते हुए सीमित सँख्या में लोग पहुचे व प्रेम भरे इस पर्व की खुशी को आपस मे बांटने का कार्य किया।नीलम ने अपने सन्देश में कहा कि यह पर्व लोगो को जोड़ने व भाईचारे के साथ समरसता के सूत्र में पिरोने का कार्य करता है।आज लोग अपनी खुशी रोक नही पाए और प्रत्यक्ष मिलकर ही इस त्यौहार को मनाने की परंपरा को निभाने में लगे रहे।इस अवसर पर रमेशर साहू ,अनुराग चन्द्राकर ,भगवती यादव ,चंद्रप्रकाश देवांगन,लेखराम साहू,सन्तोष प्रजापति, मुकेश कश्यप आदि ने पृथक-पृथक समय मे नीलम चन्द्राकर व पार्षद रजत चन्द्राकर से भेंट कर इस पर्व की खुशियां बांटी।


पूरी सादगी के साथ "प्यारे दोस्त" की टीम ने मनाया समरसता का पर्व होली

नगर के लोगो के सुख-दुख में हमेशा सहभागी बनने वाली युवा दिलों की टीम "प्यारे दोस्त" ने बिना किसी तामझाम के अलग-अलग झुंड बनाकर अपने-अपने दोस्तों की टीम के घरों में जाकर प्रेम व समरसता के इस पर्व की खुशियां बांटी।आपस मे विनम्रता व सहयोग भाव का रंग लगाकर हर बार की तरह इस त्यौहार की खुशी को जिया।इस अवसर पर रमेश पांडेय ने अपने सन्देश में कहा कि जिस प्रकार कृष्ण औऱ सुदामा की जोड़ी के मिलन के बगैर दोस्ती का अर्थ अधूरा है ,उसी तरह प्यारे दोस्त की टीम का होली मिलन एक दूसरे के साथ के बगैर हो पाना मुश्किल था।अतः हम सबने फैसला किया हम गाइडलाइंन का पालन करते हुए अलग-अलग झुंड में भी दूरी बनाकर चलेंगे और अपने दोस्तों के घरों में जाकर इस महापर्व की खुशी को वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रहकर जिएंगे।इस अवसर राजीव शुक्ला ,प्रशांत शुक्ला,यशवंत साहू,दुर्गेश द्विवेदी,जितेंद्र परमार, संजय ध्रुव ,टीकम कटारिया, आकाश तिवारी, गजानन्द सेन ,लव चन्द्राकर ,मुकेश कश्यप, सन्तोष प्रजापति आदि उपस्थित थे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने