सभी जनचौपाल, शिविर, सार्वजनिक कार्यक्रम,मेला स्थगित,विवाह, अंत्येष्टी, दशगात्र के लिए संख्या निर्धारित

 


कोविड से सुरक्षा और बचाव के लिए मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और बारी आने पर टीका लगाने कलेक्टर ने दिया जोर


धमतरी 31 मार्च 2021।कोविड 19 के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आहूत बैठक में उन्होंने आगामी आदेश तक सभी ब्लॉक तथा जिला स्तरीय जनचौपाल शिविर, कलेक्टर जनचौपाल स्थगित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिले में 25 मार्च से धारा 144 लागू हो गई है। जिले में सभी प्रकार के धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनैतिक कार्यक्रम, खेलकूद, मेला समारोह अथवा अन्य किसी प्रकार के सार्वजनिक कार्यक्रम का आयोजन प्रतिबंधित किया गया है। 

उन्होंने बैठक में निर्देशित किया कि  विवाह, अंत्येष्टी, दशगात्र अथवा उससे संबंधित आवश्यक कार्यक्रमों में फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क का कड़ाई से उपयोग की शर्त के अधीन अधिकतम 50 से अधिक लोगों की भीड़ ना रहे, यह सुनिश्चित् किया जाए।

 सीमा की बैठक में कलेक्टर ने सभी कार्यालयों में कोविड 19 के नियमों का कड़ाई से पालन करते हुए मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने पर बल दिया। साथ ही भीड़-भाड़ वाले इलाके, सब्जी मंडी में पुलिस पेट्रोलिंग, एसडीएम और नगरपालिक निगम आयुक्त को लाऊड स्पीकर के जरिए लोगों को जागरूक करने निर्देशित किया, ताकि लोग अनिवार्य रूप से मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। 


उन्होंने साफ तौर पर निर्देश दिए कि मास्क नहीं लगाने पर कार्रवाई की जाए और शासन द्वारा तय 500 रुपए का जुर्माना लगाया जाए। 

इसके अलावा शराब दुकानों के सामने भीड़ ना रहे, यह सुनिश्चित करने के कलेक्टर ने निर्देश दिए हैं, अन्यथा कड़ी कार्रवाई करने भी कहा है। 


उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को स्पष्ट तौर पर निर्देश दिए हैं कि को-माॅर्बिड और कमजोर (वल्नरबल) श्रेणी के कोविड के मरीजों को किसी भी सूरत में होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जाए। साथ ही उन्होंने एक अप्रैल से 45 साल की आयु के सभी लोगों को टीका लगाने प्रेरित करने पर बल दिया तथा जिलेवासियों से अपील की कि बारी आने पर वे कोविड का टीका जरूर लगाएं। 


कलेक्टर ने सभी विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों को बताया कि अगर वे फ्रंट लाइन वारियर, स्वास्थ्य, पुलिस और पंचायती राज की श्रेणी में नहीं आते तो, अपरिभाषित श्रेणी के तहत कोविड का टीका लगा सकते हैं। 

इस मौके पर पुलिस अधीक्षक बी.पी. राजभानु, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत मयंक चतुर्वेदी, अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अन्य अधिकारी तथा वीडियो काॅन्फ्रेंस के जरिए ब्लाॅक स्तर के अधिकारी बैठक से जुड़े रहे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने