विधायक ने दी अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर बधाई

 


धमतरी। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर विधायक रंजना डिपेंद्र साहू ने कहा कि महिला दिवस एक दिवस नहीं है यह वह शुभ संकेत है कि महिलाओं को अधिकारों के प्रति समझ विकसित हुई है। इसका तात्कालिक उदाहरण उस समय का है जब हमारे देश की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले जो स्वयं शिक्षित हुई और पूरे समाज को शिक्षित करने की बीड़ा उठाई थी, जिससे वह आत्मनिर्भर होकर पुरुष से कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ी और साथ में महिलाओं को भी आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। 


महिलाएं अपनी शक्ति को स्वयं समझकर जागृत होकर घरेलू हिंसा से निजात पा सकती है, कामकाजी महिलाएं जब उत्पीड़न से छुटकारा पा सकती है तभी महिला दिवस की सार्थकता सिद्ध होगा। वास्तविक सशक्तिकरण तो तभी होगा, जब महिलाएं आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होगी और उनमें कुछ करने का आत्मविश्वास जागेगा। दिन प्रतिदिन सभी क्षेत्रों में महिलाएं आगे निकलकर देश का नाम रोशन कर रही है। घर, समाज, शिक्षा, खेल, राजनीति से लेकर सभी क्षेत्रों में महिलाएं निरंतर अपने कर्तव्य का निर्वहन कर आगे बढ़ रही है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस सभी को आज महसूस करने और क्षमता के अनुसार लक्ष्यों को प्राप्त करने का दिवस है। यह दिवस हम हर साल मनाते हैं, पर यह दिवस महिला शक्ति को मानाने का दिन है जो व्यक्तिगत सहित अन्य लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करती है, और कामयाबी को प्राप्त करती है। मैं आप सभी क्षेत्रवासियों को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक बधाई, शुभकामनाएं प्रेषित करती हूं।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने