उड़नदस्ता अधिकारी हुए हैरान, दशगात्र में थे 80 लोग, अनुमति भी नही ली थी

 


रायपुर। एक तरफ कोरोना कहर है तो दूसरी ओर लापरवाह लोग। शासन-प्रशासन कितनी भी समझाईस देदें लोग करेंगे तो मनमानी ही। अब इन लापरवाहों पर अपराध दर्ज किया जा रहा है।

  लापरवाही का ऐसा ही मामला जांजगीर चांपा जिले के पेंड्री गांव से आया। जहां बिना अनुमति के दशगात्र कार्यक्रम का आयोजन तो किया गया ही उसमे भी निर्धारित व्यक्तियों से 3 गुना अधिक लोग सम्मिलित हुए। 


एसडीएम मेनका प्रधान ने बताया कि उन्हें जानकारी मिली थी की जिले के पेंड्री गांव में शनिवार को शांतिलाल नामक व्यक्ति के घर दशगात्र कार्यक्रम आयोजित है। शांतिलाल की धर्मपत्नी का 8 अप्रेल को निधन हुआ था। लेकिन दशगात्र के लिए उन्होंने किसी भी तरह से अनुमति नही ली थी।

 कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन की जानकारी लगने पर एसडीएम मोनिका प्रधान, एसडीओपी और उनकी टीम जब पेंड्री पहुँची तो हैरान हो गई। कार्यक्रम में लगभग 80 लोग शामिल थे। जिस पर अधीकारियों ने शांतिलाल और वहां उपस्थित अन्य लोगो को समझाईश भी दी और कड़ी फटकार भी लगाई। उक्त लापरवाही के लिए इन पर अपराध दर्ज कराए जाने की बात भी कही गई।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने