चुनौतीपूर्ण दौर में भी दायित्व निभा रहे स्वास्थ्य कर्मी,कोरोना संक्रमित महिला का कराया सफलतापूर्वक प्रसव,जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ

 


धमतरी 26 अप्रैल 2021। वैश्विक महामारी का रूप ले चुके कोविड-19 वायरस के संक्रमण से कोई वर्ग अछूता नहीं रह गया है। ऐसे चुनौतीपूर्ण दौर में खुद की परवाह किए बिना मरीजों की देखभाल व उपचार करना स्वास्थ्य महकमे के लिए बेहद मुश्किल होता है। कुरूद विकासखण्ड के ग्राम कोड़ेबोड़ में ऐसा ही एक वाकया सामने आया, जिसमें कोराना संक्रमित गर्भवती महिला का सफलतापूर्वक प्रसव कराया गया। 

कुरूद की ग्राम पंचायत कोड़ेबोड़ के भाठापारा निवासी 23 वर्षीय महिला को कोरोना के प्राथमिक लक्षण थे, जिनका 21 अप्रैल को टेस्ट कराया गया, जिसके बाद वह कोविड धनात्मक पाई गईं। बताया गया कि गांव में स्थापित किए गए आइसोलेशन सेंटर में उन्हें रखा गया। चूंकि उनका प्रसव समय नजदीक था, इसलिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मरौद के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा उनके स्वास्थ्य की सतत् निगरानी की जाती रही।

 रविवार 25 अप्रैल की दोपहर को उन्हें प्रसव पीड़ा शुरू हो गई, जिसके बाद महिला को तत्काल मरौद के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में लाया गया। चूंकि वह कोरोना पाॅजीटिव थी, इसलिए विशेष रूप से निगरानी में रखा गया। केन्द्र की सीएचओ जागृति साहू और ग्रामीण स्वास्थ्य कार्यकर्ता  तारा रात्रे ने कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए पीपीई किट पहनकर जटिल एवं चुनौती भरे प्रसव कार्य को अंजाम दिया। काफी प्रयास के बाद महिला का सामान्य प्रसव कराने में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को सफलता मिली और अब जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

 प्रसव के बाद दोनों घर पर हैं। उन्हें वापस भेजने से पहले विभाग द्वारा उनके घर को सैनिटाइज कराकर परिजनों को कोविड प्रोटोकाॅल की जानकारी दी गई। इस प्रकार प्रतिकूल परिस्थितियों में भी स्वास्थ्य अमला अपने विभागीय दायित्वों का निर्वहन बखूबी निभा रहा है, जहां खुद की जान को जोखिम में डालकर मरीजों की सतत् सेवा व उपचार के लिए कृत्संकल्पित है।




0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने