Breaking News

जनचौपाल, भेंट-मुलाकात : मुख्यमंत्री ने जररूतमंदों को स्वीकृत की आर्थिक सहायता

 

 

समस्याओं को सुनकर उनके निराकरण के लिये अधिकारियों कोदिए निर्देश 

 

रायपुर :

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां निवास में आयोजित जनचौपाल भेंट-मुलाकात में बड़ी संख्या में जरूरतमंदों को आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की। मुख्यमंत्री ने कवर्धा जिले के रेवाबनपारा निवासी श्री भद्दू राम साहू को 5 हजार रूपए रायपुर तरूण नगर निवासी दिव्यांग श्री विनोद रजक को 5 हजार रूपए रायपुर संजय नगर निवासी रेणु शर्मा को 10 हजार रूपए असद खान को शिक्षा के लिए 5 हजार रूपए मौहदापारा निवासी श्रीमती माला बाई को 5 हजार रूपए श्रीमती शबनम बानो को 5 हजार रूपए श्रीमती रिजबाना बेगम को 5 हजार रूपए और राजनांदगांव के शंकरपुर निवासी श्रीमती प्रीति शर्मा को 5 हजार रूपए गिर्रा पलारी के बलाराम फेकर को 5 हजार रूपए की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की है।
      इसी तरह जनचौपाल में मुख्यमंत्री ने बलौदाबाजार भाटापारा के  कामता यादव को 5 हजार रूपए रायपुर मौहदापारा की  जहगीरा बेगम को 5 हजार रूपए मोहम्मद वकील को 5 हजार रूपए बसना दरूगपाली के जगबन्धू को 5 हजार रूपए मठपुरैना निवासी  सरस्वती साहू को 5 हजार रूपए महासमुन्द अमावश के राजकुमार जोशी को 5 हजार रूपए अभनपुर खोला के केवलचंद को 5 हजार रूपए रायगढ़ के सरोज सिंह को 10 हजार रूपए और टाटीबंध बस्ती के निरजंन पठारी को 5 हजार रूपए की आर्थिक सहायता राशि की स्वीकृति प्रदान की है।
हाउसिंग बोर्ड कालोनी, कोटा रायपुर के मेहूल वर्मा को उच्च शिक्षा के लिए 50 हजार रूपए की आर्थिक सहयता स्वीकृत की। इसी प्रकार कुशालपुर रायपुर निवासी ममता महोबिया को बी.काम. प्रथम वर्ष की शिक्षा के लिए 10 हजार रूपए और अभय तम्बोली को 10 हजार रूपए स्वीकृत की गई है।   

       

ग्रामीणों ने दाढ़ी को उप तहसील का दर्जा देने के लिए मुख्यमंत्री को दिया धन्यवाद

 बेमेतरा जिले के ग्राम दाढ़ी से आए ग्रामीणों के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर दाढ़ी को उप तहसील घोषित करने के लिए धन्यवाद दिया। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री 18 सितम्बर के जन चौपाल कार्यक्रम में ग्रामीणों के आग्रह पर दाढ़ी को उप तहसील का दर्जा देने की घोषणा की थी। प्रतिनिधि मंडल ने बताया कि दाढ़ी के आसपास के 60 गांवों को अपने कार्य के लिए 30 किलोमीटर दूर बेमेतरा जाना पड़ता था। इस क्षेत्र के कई गांवों की बेमेतरा से दूरी 70 किलोमीटर है। अब दाढ़ी में उप तहसील होने से उन्हें आसानी होगी। बेमेतरा जिले के ही सिमगा विकासखंड के टेमरी से आए ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को बताया कि वर्ष 2014-15 में बिलासपुर-रायपुर मार्ग के लिए उनकी भूमि अतिग्रहित की गयी थी, लेकिन मुआवजे के लिए पारित अवार्ड में विसंगतियां है। ग्रामीणों को उनकी भूमि का कम मुआवजा मिला है। प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री को इस संबंध में ज्ञापन सौंपा। मुख्यमंत्री ने उनके ज्ञापन का परीक्षण करा कर उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।

 

    

No comments