गरियाबंद जिलेवासियों को 134 करोड़ रूपए के विभिन्न विकास कार्यों की सौगात

पीपरछेड़ी तथा इंदागांव को उप तहसील और मैनपुर को राजस्व अनुविभाग बनाने की घोषणा की

 

गरियाबंद में 100 बिस्तर अस्पताल और राजिम में कृषि महाविद्यालय खुलेंगे

रायपुर :

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 6 सितम्बर को जिला मुख्यालय गरियाबंद में आयोजित वन अधिकार, आजीविका सम्मेलन एवं अभिनंदन समारोह में शामिल हुये । इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल जिलेवासियों को 134 करोड़ 67 लाख 54 हजार रूपये के 34 विकास कार्यो की सौगात दिए। जिनमें 114 करोड़ 35 लाख 19 हजार रूपये के 28 लोकार्पण कार्य एवं 20 करोड़ 32 लाख 35 हजार रूपये के 06 शिलान्यास कार्य शामिल हैं। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के हाथों विभिन्न योजनाओं के तहत लोगों को 2 करोड़ रूपए लागत के हितग्राही मूलक सामाग्रियों एवं चेक का वितरण किया गया।

 

श्री बघेल ने गरियाबंद जिले के पीपरछेड़ी और इंदागांव को उप तहसील का दर्जा देने की घोषणा की। साथ ही उन्होंने मैनपुर तहसील को राजस्व अनुविभाग का दर्जा दिया। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने सौगातों की बारिश करते हुए अंचल के विशेष पिछड़ी जनजाति कमार एवं भुंजिया जाति के लिए सीधी भर्ती का रास्ता खोल दिया। श्री बघेल ने क्षेत्र में प्रचुर वन सम्पदा की उपलब्धता को देखते हुए जिले के सभी प्राथमिक वनोपज सहाकरी समितियों में 20-20 लाख रूपए की लागत से प्रारंभिक प्रसंस्करण केन्द्र खोलने की घोषणा की। श्री बघेल ने कहा कि इससे जिले के लोगों को वन सम्पदा का बेहतर मूल्य मिलेगा और आजीवका में वृद्धि होगी। उन्होंने जिला मुख्यालय गरियाबंद में 100 बिस्तर अस्पताल और गरियाबंद जिले के राजिम में कृषि महाविद्यालय खोलने की घोषणा भी की।

    मुख्यमंत्री श्री बघेल ने गरियाबंद में आयोजित वन अधिकार, आजीविका एवं अभिनंदन समारोह के विशाल जनसभा को छत्तीसगढ़ी में सम्बोधित करते हुए कहा कि गरियाबंद जिला धार्मिक, सांस्कृति और प्राकृतिक रूप से सम्पन्न है। यहां विकास की असीम सम्भावनाएं है। श्री बघेल ने पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी के सन् 1985 में कुल्हाड़ीघाट प्रवास को याद करते हुए कहा कि श्री राजीव गांधी कुल्हाड़ीघाट जैसे आदिवासी और वनाचंल क्षेत्र में आकर कंदमूल खाये थे। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आदिवासी और समाज के पिछड़े तबके के लोगों के हित में कार्य करती रही है। श्री बघेल ने राज्यवासियों को कुल 82 प्रतिशत देने के फैसले पर कहा कि संविधान और मंडल आयोग के सिफारिश के आधार पर ही हमने राज्य की जनता के हित के लिए ईमानदारी से लागू किया है। समारोह में गृह मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री  ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री  रविन्द्र चौबे, वन मंत्री मोहम्मद अकबर, राजिम विधायक अमितेश शुक्ल, जनपद अध्यक्ष चुम्मन बाई सोम, कलेक्टर  श्याम धावड़े, पुलिस अधीक्षक श्री एम.आर. अहीरे सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने