गीत संगीत एवं नृत्य की स्वर लहरी में गूंजा वृंदावन

       स्वामी हरिदास संगीत एवं नृत्य महोत्सव  का हुआ शुभारंभ  





-ओडिसी, कत्थक नृत्य ,गायन  एवं जुगलबंदी ने श्रोताओं को किया मंत्रमुग्ध                            

   प्रमेन्द्र अस्थाना
वृन्दाबन।     स्वामी हरिदास संगीत एवं नृत्य महोत्सब का गुरुवार को गीत संगीत एवं नृत्य की स्वरलहरियों के साथ शुभारंभ हो गया। मुख्य अतिथि श्री राम जन्म भूमि न्यास के अध्य्क्ष महंत नृत्य गोपाल दास महाराज , अखण्डानन्द आश्रम के सन्त महेशानंद सरस्वती, व्यापारी कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष रविकांत गर्ग , पूर्व सीएलपी लीडर प्रदीप माथुर , वनमहाराज कॉलेज के सचिब नामदेव शर्मा ने स्वामी हरिदास जी के छवि चित्र पर माल्यर्पण एवं दीप प्रज्वल्लन कर किया । राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपालदास महाराज ने कहा कि संगीत वेद का ही अंग है। वेदों में सामवेद है, सामवेद ही संगीत का मुख्य है। इसीलिए वेद स्वरूप सामवेद के आचार्य स्वामी हरिदास महाराज का पावन स्मरण करके हम उनके प्रति प्रेम स्नेह और सर्वस्व समर्पण कर रहे हैं। ऐसे सन्त विरले होते हैं। वास्तव में उन्होंने केवल सन्त समाज को ही नहीं संगीत के समाज भी अलंकृत किया है। सारे विश्व में अपनी ध्वजा फहराई। एसे महान सन्त संगीत शिरोमणि स्वामी हरिदास महाराज के चरणों में सादर दण्डवत है। महोत्सव में प्रख्यात ओडिसी नृत्यांगना गौरी द्विवेदी ने अपनी प्रस्तुति दी। अपनी प्रस्तुति में  उन्होंने  मंगलाचरण  मंगलाचरण भुजाग्षायणम  की धुन पर मनोहारी प्रस्तुति दी  साथ हीगौरी द्विवेदी ने द्रौपदी चीरहरण,, प्रहलाद लीला, दशावतार लीला का मंचन नृत्य के माध्यम से किया। मनोहारी झांकी प्रस्तुत कर श्रोताओं को  मंत्रमुग्ध कर दिया । उनके साथ गायन प्रशांत बेहरा, पखावज प्रशांत मंगराज , वायलन पर गोपीनाथ और बांसुरी पर धीरज कुमार पांडे रहे ।।  
              शास्त्रीय गायक सृष्टि माथुर ने भगवान श्री कृष्ण एवं राधा की भक्ति से परिपूर्ण भजनों का गायन कर श्रोताओं को भाव विभोर कर दिया। मधुर लय कार्यक्रम के अंतर्गत गायक गुलशन टंडन, तबला वादक अशोक पांडे, शिव कुमार मिश्रा, कथक नृत्यांगना शीतल कोलवलकर, मृदंग वादक श्रीधर पार्थ सारथी , गायक सुरजन खंडालकर, हारमोनियम पंकज मिश्रा ने जुगलबंदी कर श्रोताओं के मन के तारों को झंकृत कर दिया । पूरा परिसर तालियों की गड़गड़ाहट से गुंजायमान उठा। आयोजन समिति के सचिव गोपी गोस्वामी ने अतिथियों का स्वागत किया तथा आभार जताया।   

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने