श्री शीतला शक्तिपीठ सिहावा समिति द्वारा नवरात्र के सभी आयोजनों को स्थगित किया गया




विनोद गुप्ता 
नगरी ।वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस का इस कदर से कहर बरपा है जो मानव सभ्यता को झकझोर कर रख दिया है, देवी देवता तक इसके प्रभाव से अछूते नही रह पाए है। यहा यह बताना लाजमी होगा कि वायरस का सीधा प्रभाव दैविक शक्तियों पर नही हो सकता है परन्तु मानव शरीर के भीतर यह संक्रमण आपस मे हाथ मिलाने, भीड़-भाड़ में जाने और ऐसे कई कारणों से बहुत तेजी से फैलता है, इन सब से बचने के लिए ही इस बार होने वाले हिन्दू नववर्ष, बसंती चैत्र नवरात्र एवं रामनवमी पर होने वाले सभी कार्यक्रम इस संक्रमण की रोकथाम के लिए रद्द कर दिए गए है।
 श्री शीतला शक्तिपीठ सिहावा समिति द्वारा भी नवरात्र के सभी आयोजनों को स्थगित कर दिया है। समिति अध्यक्ष कैलाश पवार ने बताया है कि माता तो माँ होती है किसी कारणों से भक्त अगर माता तक नही पहुचे तो भी माता उनकी रक्षा करतीं है। आगे बताया कि इस बार मंदिर में नाना प्रकार के नए कार्यक्रम व मेला महोत्सव का आयोजन किया जाना था परंन्तु कोरोना वायरस के प्रभाव के मद्देनजर मानव जाति की रक्षा के लिए होने वाले सभी आयोजनों का स्थगन कर दिया गया है, जिसके लिए मंदिर ट्रस्ट ने खेद व्यक्त किया है।

25 मार्च से शुरू होने वाले बसंती चैत्र नवरात्र पर्व में मंदिर में केवल पुजारियों के द्वारा ही 4 ज्योत कलश का प्रबंध किया गया है। एक मुख्य ज्योति, दूसरा सभी मनोकामना घृत ज्योति की तरफ से एक घृत ज्योति वैसे ही पूरे तेल की एक तेल ज्योति और एक माता शांता के नाम की इस प्रकार से केवल चार ज्योति ही जलाए जाएंगे। मंदिर प्रांगण पर भी भीड़-भाड़ से परहेज रखने की सूचना शासन-प्रशासन से प्राप्त हुई है।
समिति के सदस्य नेमसिंह बिसेन, नरेंद्र नाग, नोहर सिंह साहू, बुधेस्वर साहू, नारद निषाद ने बताया कि मनोकामना ज्योति कलश की राशि जिन्होंने जमा कर दी है उनकी ज्योति अगले बार शारदीय क्वार नवरात्र में जला दी जाएगी अन्यथा मंदिर ट्रस्ट व शुल्क प्रभारियों से संपर्क कर अपनी मनोकामना ज्योति की राशि वापस प्राप्त कर सकते है।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने