घर पर बिजली नही , बचपन मे मां गुजर गई, परिस्थिति को मात देकर 10वीं में हासिल किया 94 प्रतिशत अंक



युकांई तथा एनएसयूआई कुरुद ने टेमन का किया सम्मान


ब्यूरो
धमतरी। सच ही कहा है कि अभावों  में भी प्रतिभा पनपता है और इतिहास रचता है । पर्याप्त संसाधन के बीच नाकाम होते लोग अधिकतर मेहनत न कर अपनी किस्मत को कोसते हैं। जबकि संसाधन के अभाव के बीच मेहनतकश, दृढसंकल्पित व्यक्ति अपनी प्रतिभा से इबादत गढ़ता है। ऐसा ही एक प्रतिभा के धनी किसान पुत्र ने चिमनी के उजाले में पढ़ाई कर कक्षा 10 वीं में 94.33 प्रतिशत अंक हासिल कर क्षेत्र में मिशाल कायम किया है। जिनका एनएसयूआई छात्र इकाई तथा युवा कांग्रेस विधानसभा कुरुद के सदस्यों ने   सौजन्य मुलाकात कर सम्मान किया।
 माध्यमिक शिक्षा मंडल छत्तीसगढ़ द्वारा 23 जून को 10वीं तथा 12वीं बोर्ड कक्षाओं की परीक्षा परिणाम घोषित किया गया। जिसमे में बेहतर संसाधन के अभाव के बीच भी विभिन्न प्रतिभावान छात्र-छात्राओं ने अपनी मेहनत के बदौलत पिछले कई रिकॉर्ड तोड़ अंक प्राप्त किए हैं। कुरुद ब्लॉक अंतर्गत ग्राम चोरभट्ठी के एक किसान के पुत्र टेमन कुमार साहू पिता सन्त राम साहू ने भी अपनी मेहनतकश पढाई का लोहा मनवाते हुए 94.33 प्रतिशत अंक हासिल कर अपने परिवार तथा क्षेत्र का गौरव बढ़ाया है। टेमन कुमार के परीक्षा परिणाम की जानकारी मिलते ही एनएसयूआई तथा युकाई कुरुद विधानसभा सदस्यों ने उनके घर पहुंच माला पहना पुष्पगुच्छ से सम्मान किया। ततपश्चात उनसे चर्चा में बताया कि वह हाई स्कूल भुसरेंगा से पढ़ाई किया है।जहाँ से कक्षा दसवीं की परीक्षा में गणित में सर्वाधिक 99अंक के साथ विज्ञान- 97,हिंदी- 97,संस्कृत- 96,सामाजिक विज्ञान- 94 तथा अंग्रेजी मे 83 नम्बर के साथ 94.33 प्रतिशत हासिल किया।

टेमन भविष्य में इंजीनियर बनना चाहते हैं

उन्होंने ने बताया स्कूल के अलावा अपना घरेलू कामकाज निपटाकर जब भी समय मिलता वह पढ़ाई करते है। उसके घर एक मोबाइल फोन है वह भी खराब है। टेमन का एक छोटा सा परिवार है । बचपन में  ही माँ का साया सर से उठ गया कुछ वर्षों तक माँ के स्वर्गवास के बाद घर के कामों  में दादी ने हाथ बटाया  फिर वह भी चल बसी  अब वह अपने पिता और छोटी बहन के साथ रहता हैं।  यूकाइयों की टीम को टेमन के पास के ही घर मे रहने वाले उनके दादा सेवा राम साहू ने चर्चा के दौरान बताया कि टेमन किन-किन परिस्थितियों से गुजर कर यह मुकाम हासिल किया है। उन्होंने बताया टेमन कुमार शुरु से ही पढ़ाई में होशियार रहा है। जब टेमन 5 वीं कक्षा में अध्ययनरत था उसी समय उनकी माता हिरौंदी बाई साहू का निधन हो गया। उनके पिता सन्तराम साहू के पास एक एकड़ खेत है जिस पर वह किसानी तथा अन्य मजदूरी काम कर घर चलाता है। युकाईयो ने घर मे अंधेरा होने की बात कही तो सेवा राम साहू ने आगे जो बताया वह निश्चित तौर पर चौकाने वाला था। टेमन कुमार का घर प्रधानमंत्री आवास के तहत बना है जिस पर 2 वर्ष से बिजली नही है। जिससे रात के समय मे टेमन चिमनी की रोशनी में रहकर पढ़ाई करता है। टेमन के चिमनी की रोशनी से पढ़ाई की बात सामने आते ही अब्राहम लिंकन की छात्र जीवन का स्मरण हुआ , जिन्होंने स्ट्रीट लाइट के नीचे अध्ययन किया करते थे जो कि बाद में अमेरिका के राष्ट्रपति बने। टेमन तथा उनके परिवार से मुखातिब होते हुए शासकीय उच्चरत माध्यमिक विद्यालय कुरुद के जनभागीदारी अध्यक्ष मनीष साहू ने कहा कि उनके आगे की उच्च शिक्षा हेतु हरसम्मव  मदद किया जावेगा । युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष  देवव्रत साहू ने कहा टेमन का परीक्षा परिणाम पढ़ाई के प्रति उनकी रूचि से रूबरू कराता है , भविष्य में उन्हें सही मार्गदर्शन की आवश्यकता है, जिससे वह अपने लक्ष्यों में सफलता हासिल कर सकता है। सम्मानित करने पहुंचे कुरुद ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रमोद साहू ने परिवार जनों से चर्चा करते हुए कहा कि बिजली विभाग से चर्चा कर उनके घर की बिजली की समस्या को दूर करने का प्रयास किया जाएगा। एनएसयूआई विधानसभा अध्यक्ष केशव साहू भुसरेंगा  स्कूल जनभागीदारी अध्यक्ष भीषम साहू सहित बसंत साहू, ऐश्वर्य साहू, दानेश्वर साहू , गजेंद्र साहू, तुकेश साहू, धनेश्वर ध्रुव, दुष्यंत साहू आदि सहित परिवार जन तथा ग्रामीण जन उपस्थित थे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने