रुद्री थाना में दस्तावेज कूट रचित मामला मेंपटवारी सहित 2 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज




धमतरी । रुद्री थाना में दस्तावेज कूट रचित मामला में 2  लोगों के  खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है ।संजय शुक्ला धमतरी  ने रिपोर्ट दर्ज कराया कि मेरे पिता स्व0 फणेंदभूषण शुक्ला एवं चाचा विघाभूषण के नाम पर पुसतैनी कृषि भूमियों मे ख0नं0 284 रकबा 1-63 हे भी है. 06.01.2020 मेरे पिता फणेन्द्रभूषण की मृत्यु हो गयी है तथा चाचा विघाभूषण शुक्ला की भी मृत्यु भी 04.03.2018 को हो चुकी है अपने पिता की मृत्यु पश्चात उनके नाम पर बेन्द्रानवागांव  स्थित कृषि भूमि का फौती नामातरण हेतु मैने राजस्व अभिलेख खसरा बी 1 नक्शा हेतु आन लाईन भूईया साइट से निकालने का प्रसास किया तो फणेन्द्रभूषण शुक्ला का राजस्व अभिलेम्ब उपलब्ध होना नहीं दिखाया आन लाइन सर्च के दौरान ही भुईया साइट पर फणेन्द्रभूषण शुक्ला के स्वामित्व की जमीन ख0न0 184 रकबा 1.63 हे0किसी आशिष कंवर पिता आर बी कंवर के नाम पर दिखा रहा था तथा उक्त ख0न0 184 पर बैक आफ बडोदा द्वारा लोन प्रदान किया जाना दिखा रहा था जिसके पश्चात मैं  वर्तमान पटवारी शांडिल्य जी मिला तो उन्होने आशिष कंवर के नाम पर उक्त ख0न0 184 को पूर्व पटवारी आर बी पैकरा के द्वारा आपने कार्यकाल में दर्ज किया  जाना बताया तब मैं तत्कालिन पटवारी आर बी पैकरा से मिला तो उन्होने मुझसे कहा कि भूलवश उक्त ख0न0 184 आशिष कंवर के नाम पर दर्ज  हो गया जिसे मैं सुधार दुंगा। 


  इसके बाद मैं उनसे मिलता रहा मगर वे अन्य विभागीय कार्य में व्यस्त होने का बहना कर देते थे इसी दौरान कोरोना महामारी के द्वारा लाकडाउन हो गया और मेरी पैकटा पटवारी से मुलाकात नहीं हो सकी। मेरे पिता प्राचार्य पद से रिटायर्ड हुए ये उन्हे पेशन प्राप्त होता था तथा पूर्णत सक्षम थे उन्होने अपने जीवन काल में कभी भी एक डिसमिल जमीन नहीं बेची उन्होने किसी भी आशिष कंवर को कभी कोई जमीन नहीं बेची और ना ही मेरे पिता का आशिष कंवर के साथ कोई संबंध नहीं था राजस्व अभिलेख में ख0न0 184 रकबा 1.63 हे0 मैं आशिष कंवर का नाम किस आधार पर राजस्व अभिलेख में दर्ज है मैंने आशिष कंवर कौन है कहां का रहने वाला है क्या कारता है यह जानने का प्रयास किया परन्तु मुझे आशिष कंवर के बारे में कोई भी जानकारी नहीं मिल सकी महोदय जी पैकरा जी मुझसे संपर्क नहीं कर रहे है और मैं जाता हूं तो मुझसे मिलने बच रहे है जिससे मुझे संदेह हो रहा है पटवारी पैकरा ने ही मेरे पिता के नाम की कृषि भूमि ख0न0 184 रकबा 1.63.00 हे को अन्य राजस्व अधिकारी के साथ मिली भगत कर के राजस्व अभिलेखों में से मेरे पिता फणेन्द्रभूषण शुक्ला व चाचा विघाभूषण शुक्ला का नाम विलोपित कर आशिष कंवर पिता आर बी कंवर में नाम पर दर्ज  कर दिया है



इसी तरह एक अन्य मामले में रामजी ध्रुव उम्र 77 वर्ष पिता श मनबोधी ध्रुव जाति गोंड निवासी एवं कृषक ग्राम बेन्द्रानवागांव तहसील धमतरी जिला धमतरी ने रपोर्ट दर्ज कराया कि ग्राम बेन्द्रानवागांव का निवासी एवं कृषक है तथा भूतपूर्व प्रधान पाठक एवं पूर्व जनपद सदस्य रहे प्रार्थी के नाम पर ग्राम बेन्द्रानवागांव में पैतृक कृषि भूमि स्थित है जिसका खसरा नंबर 18,134,158,137,140,154,151,249,302,316,439,136,138,141,150,155,165,167,270,272,286,288,300,317,407,441,450,520,523 कुल खसरा नंबर 29 कुल रकबा 8.65/21.62 एकड लगान 22.82 रूपया स्थित है जो प्रार्थी को पूर्वजो से प्राप्त हुआ है जिस पर कास्त एवं कब्जे में है उपरोक्त दर्शित भूमि को कभी भी किसी के पास बिक्री नहीं किया है 02. यह कि उपरोक्त विषयांकित रामभगत पैकरा जो पूर्व में धमतरी शहर ग्राम रूद्री ग्राम श्यामतराई में पटवारी के पद पर पदस्थ रहे वर्तमान में ग्राम खरेंगा में पटवारी के रूप में पदस्थ है रामभगत पैकरा वर्ष 2017 में रूद्री में पटवारी के रूप में कार्यरत् थे अपने कार्यकाल में पटवारी के हैसियत से प्रार्थी के भूमि स्वामी जमीन जो ऊपर दर्शित है को 01.08.2017 के अनुसार अपने पुत्र आशीष के नाम पर अभिलेख में दर्ज कर लिया है एवं शासन द्वारा समस्त राजस्व अभिलेखो  को कम्प्यूटरीकृत  किये जाने की कार्यवाही की गई इसी दरम्यान रामभगत पैकरा ने प्रार्थी के संपूर्ण भूमि जो लगभग 22 एकड है को अपने पुत्र आशीष के नाम पर कम्प्यूटरीकृत राजस्व अभिलेख में बिना किसी हस्तांतरण दस्तावेज के दर्ज करा लिया । 
 इस सम्बन्ध में रुद्री थाना प्रभारी युगल किशोर नाग ने बताया कि पटवारी के खिलाफ राजस्व रिकार्ड में छेड़छाड़ के मामले में2 एफआईआर दर्ज  किया गया है जिसमे धारा 420, 467,468,471,120 B,34 IPC के तहत मामला पंजीबद्ध कर पता तलाश की जा रही है

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने