नई दिल्ली केन्द्रीय होम्योपैथिक अनुसन्धान परिषद् की 66वीं बैठक में इन्दौर से डाॅ. द्विवेदी भी सम्मिलित हुए



इन्दौर। वैज्ञानिक सलाहकार बोर्ड की 66 वी बैठक 8 अक्टूवर को ऑनलाइन आयोजित की गई। इम्युनिटी बूस्टर, हेल्थ सप्लीमेंट, होम्योपैथिक दवा का प्रयोग, प्री कोविड, कोविड एवं पोस्ट कोविड पर लार्ज स्केल पर पूरे देश में किया जा रहा है। डॉ द्विवेदी ने बताया कि, ऐसे कई मरीज हैं जिनके घर में लोग पाॅजिटिव आये भर्ती होकर इलाज लिए, अस्पताल से छुट्टी होने के बाद जब कमजोरी थकान श्वास की परेशानी कम नहीं हुई तब होम्योपैथिक चिकित्सा से उन्हें लाभ मिला। 

डॉ द्विवेदी ने बताया कि होम्योपैथिक दवा का कोई टॉक्सिसिटी नहीं होता उन्होंने अनुसन्धान कौंसिल को भी इन्दौर कैट में हुये आर्सेनिक एल्बम दवा की जाँच से अवगत कराया। ऐसे कई मरीज जिनका ऑक्सीजन लेवल कम रहता था होम्योपैथिक दवा से उन्हे काफी लाभ मिला है

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने