देश के किसानों व कृषि को नष्ट करने के लिए इस बिल का प्रारूप तैयार किया गया है:शरद



कांग्रेसियों ने गांधी जयंती पर  किया धरना प्रदर्शन



धमतरी।प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार जिला कांग्रेस कमेटी एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ग्रामीण, शहर द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती को किसान मजदूर बचाओ (किसान एवं खेत-मजदूर बचाओ) किसान मजदूर विरोधी दिवस के रूप में मनाया गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गांधी प्रतिमा स्थल पहुंचकर गांधी जी की प्रतिमा में एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के छायाचित्र पर माल्यार्पण किया।

इस अवसर पर कांग्रेसियों ने कहा कि महात्मा गांधी की न्याय के प्रति अनुकरणीय निष्ठा थी, जो मानव सेवा के लिए कभी नही थकने वाला जज्बा था। भारत की आजादी में महात्मा गांधी की अविस्मरणीस भूमिका है। यही कारण है कि महात्मा गांधी के जन्मदिन को गांधी जयंती और कई तरह के समारोह के माध्यम से याद किया जाता है। उन्होंने अहिंसा के रास्ते पर चलकर देश को आजादी दिलाई ओर भाई चारे का पाठ पढ़ाया।

तत्पश्चात केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा जो 3 किसान विरोधी बिल पास करके हरित क्रांति को विफल करने की साजिश कर रही है। जिसमे
1. किसान उत्पादन व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक 2020
2.किसान (सशक्तिकरण और संरक्षण) मूल्य आश्वासन कृषि सेवा विधेयक 2020
3. आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक 2020.
उपरोक्त बिल के विरोध में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन का आयोजन कर किसान विरोधी बिल को तत्काल वापस लेने की मांग करते हुए राष्ट्रपति के नाम सक्षम अधिकारी को ज्ञापन सौंपा ।

इस दौरान  जिला अध्यक्ष लोहाना ने संबोधित करते हुए कहा कि देश के किसानों व कृषि को नष्ट करने के लिए इस बिल का प्रारूप तैयार किया गया है बड़ी संख्या में किसानों और खेतिहर मजदूर इन कठोर कानूनों का विरोध कर रहे हैं किंतु केंद्र सरकार किसानों पर लाठियां बरसाकर कर उनकी आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है जिसका कांग्रेस पार्टी सदन से लेकर सड़क तक की लड़ाई लड़ रही है इसी परिपेक्ष में इस बिल का विरोध करते हुए धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया है। इसी कड़ी में पूर्व विधायक हर्षद मेहता,  पंकज महावर, जिला पंचायत उपाध्यक्ष  निशू चंद्राकर, अमरदीप साहु, योगेश लाल, विद्या देवी साहू, कृष्णा मरकाम, मनोज साहू , दयाराम साहू, हरमिंदर छाबड़ा, उदित साहु, सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसजनों ने संबोधित करते हुए इस किसान विरोधी बिल को केंद्र सरकार द्वारा वापस लेने की बात कही। महापौर विजय देवांगन ने इस बिल को किसान विरोधी बताने के साथ साथ  कल उत्तर प्रदेश हाथरस जाने के दौरान अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर हुए हमले को निंदनीय बताया और उपस्थित सभी कांग्रेसीजनों के द्वारा इस पर निंदा प्रस्ताव पास किया गया। कार्यक्रम का आभार नरेश जसूजा द्वारा किया गया। जसूजा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी यह लड़ाई तब तक जारी रखेगी जब तक केंद्र सरकार इस बिल को वापस ना ले ले, मंच संचालन एल्डरमैन विक्रांत शर्मा ने किया।इस दौरान  एनएसयूआई जिलाध्यक्ष राजा देवांगन, देवेंद्र जैन, अरुण चौधरी,घमेश्वरी साहू , राजेश चंद्राकर (सरपंच संघ अध्यक्ष), आलोक जाधव, तोगु गुरु पंच, मनजीत छाबड़ा, देवेन्द्र अजमानी, तिलक सोनकर, मनोज साहू, ओंकार साहू, सुधीर भल्लाल, नरसिंह साहु, पेखनलाल साहू, गीताबाई ध्रुव, पतिराम ध्रुव, सूर्या नेताम, परमानंद आडिल, विक्रांत पवार, गुरु गोपाल गोस्वामी, गौतम वाधवानी, संदीप ध्रुव, जितेंद्र देवांगन, सलीम गौस, तारिक रज़ा कादरी, सलीम तिगाला, हाजी नूर मोहम्मद मेमन, शंकर ग्वाल, तनवीर कुरैशी, आकश गोलछा, अवैस हासमी, राजेश पांडेय, केंद्र कुमार पेंदरिया, वसीम खिलची, मानसिंह ध्रुव,अवधेश पांडये, दीपक सोनकर, प्रकाश पवार, ममता शर्मा,  नीलू पवार, सविता कंवर, ज्योति वाल्मिकी,हीरूराम निर्मलकर, गीत राम सिन्हा, सद्दाम गौड़, अंबर चंद्राकर, शिवराम निषाद, कमल निर्मलकर, कमल नारायण सोनकर,  होमेश्वर साहू,आशीष   बंगानी सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने