कर्णेस्वर महादेव मंदिर ट्रस्ट की बैठक, आय व्यय ब्यौरा के साथ मेला तैयारी पर हुई चर्चा

 

नगरी।कर्णेस्वर मेला इस वर्ष फरवरी माह के अंतिम सप्ताह में लगेगा। जिसकी तैयारी के लिये कर्णेस्वर महादेव मंदिर ट्रस्ट की बैठक मन्दिर प्रांगण  में मंगलवार को आहूत की गई। बैठक में पिछले सत्र के आय ब्यय की जानकारी ट्रस्ट के पदाधिकारियो ने दी। इस वर्ष मन्दिर प्रांगण को भव्यता प्रदान करने उड़िया शैली का 25 फीट ऊंचा प्रवेश द्वार स्थाई रूप से बनाने का निर्णय लिया गया वही हाई मास्क लाइट से मन्दिर प्रांगण को सुसज्जित किया जाएगा जिसके निर्माण आदि के लिये समितियो का गठन किया गया। 


प्रतिवर्ष यहां पांच दिवसीय मेला माँघी पूर्णिमा के अवसर पर लगता है। जिसमें दूर-दूर से हजारों श्रद्धालु व देव विग्रह अपने पूरे स्वरूप में डांग डोली बाना लिये महानदी व बालका के संगम में स्न्नान कर कर्णेस्वर महादेव का दर्शन कर पूण्य के भागीदार बनते है। यह परम्परा सदियों से चल रही है मेला के बढ़ते स्वरूप को देखते हुए ट्रस्ट द्वारा मेला स्थल के लिये शासकीय भूमि आबंटित कराने का निर्णय लिया गया। ऐतिहासिक कर्णेस्वर मेला महोत्सव को सुचारू बनाने बैठक 31 जनवरी को रखा जाना प्रस्तावित हुआ है जिसमें बाजार व मेला के विभिन्न कार्यो के लिये दायित्य आबंटित किये जायेंगे।

 बैठक में प्रमुख रूप से  ट्रस्ट के संरक्षक कैलाश पवार,अध्यक्ष विकल गुप्ता, सचिव शिव कुमार परिहार,कोषाध्यक्ष नागेन्द्र शुक्ला, कार्यालय प्रभारी निकेश ठाकुर,रामप्रसाद मरकाम,गगन नाहटा,कमलेश मिश्रा, मोहन नाहटा,अंजोर निषाद,रवि दुबे,पंकज ध्रुव,आनंद अवस्थी,रामभरोसा साहू,भरत निर्मलकर,योगेश साहू,हुमित लिमजा,प्रकाश बेस,के एस श्रीमाली,सचिन भंसाली,पवन भट्ट,दीपक यदु,राम लाल श्रीमाली,महेंद्र नेताम,राम लाल नेताम,प्रेमजीत छाबड़ा,उमा शंकर जांगड़े,सुकमन साहू,उत्तम साहू,राजेन्द्र पूरी गोस्वामी आदि उपस्थित थे।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने