बनारस जैसे धमतरी में भी निकलेगी भोले बाबा की बरात, तैयारी में जुटे श्रद्धालु

 


दुर्ग, ओड़िशा के बैंड,बाजा के अलावा झांकियां होंगी आकर्षण का केंद्र


भूपेंद्र साहू

धमतरी। देश में महाशिवरात्रि के अवसर पर बनारस में प्रतिवर्ष भगवान शिव की बारात निकाली जाती है।अब उसी तर्ज पर धमतरी में भी पहली बार शिव की बारात निकलेगी ।बुधवार दोपहर 3 बजे विंध्यवासिनी मंदिर से बूढ़ेश्वर मंदिर तक बरात में शामिल होने श्रद्धालु बेहद उत्साहित हैं ।जिसकी तैयारी में मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी एवं समाजसेवी जुटे हुए हैं।

 11 मार्च गुरुवार को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाएगा ।बूढ़ेश्वर मंदिर में इस बार शिव की बारात निकाली जाएगी  जिसके संबंध में मंगलवार को विजय गोलछा निवास में बैठक हुई ।बताया गया कि सुबह 9:00 बजे कार रैली निकलेगी, जो विंध्यवासिनी मंदिर से अर्जुनी मोड़, अंबेडकर चौक, गौरव पथ होते हुए बूढ़ेश्वर मंदिर पहुंचेगी। दोपहर 12:00 बजे विंध्यवासिनी मंदिर के पास भंडारा रखा गया है। उसके बाद 3 बजे विंध्यवासिनी मंदिर से शिव की बारात निकलेगी। जो सदर बाजार होते हुए घड़ी चौक, रत्नाबांधा चौक, शिव चौक होते हुए  बूढ़ेश्वर मंदिर में समाप्त होगी। पहली बार यह आयोजन धमतरी में किया गया है।


बारात महोत्सव में दुर्ग का राष्ट्रीय बैंड पार्टी,ओडिशा का विशेष बाजा, धमतरी का अखाड़ा,आंगा देवता, रायपुर से मूर्ति की झांकी, प्रजापिता ब्रह्माकुमारी की झांकी, आलमपुर का धुमाल, बग्घी, दुर्ग से आठ घोड़ी आकर्षण का केंद्र रहेगी।बरात के साथ रामधुनी करते हुए संतोषी साहू और विष्णु गिलहरें चलते रहेंगे। कुछ लोगों को त्रिपुंड लगाना व रुद्राक्ष वितरण करने की जिम्मेदारी भी दी गई है। स्पर्श ग्रुप द्वारा शिव तांडव स्त्रोत का उच्चारण किया जाएगा।बुधवार सुबह 5 बजे 24 घंटे का जलाभिषेक भी शुरू हो जाएगा।बैठक में बूढ़ेश्वर मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष ,उपाध्यक्ष एवं श्रद्धालु मौजूद थे।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने