खल्लारी माता के भक्तों को जल्द मिलेगा उड़नखटोला

 


महासमुंद। खल्लारी माता के दरबार आने वाले भक्तों को अब जल्द ही उड़नखटोला में सवार होने का आंनद मिलेगा। खल्लारी विधायक द्वारीकाधीश यादव ने मंदिर प्रांगण आज में रोप-वे निर्माण का भूमिपूजन किया। 

प्रदेश के सबसे प्राचीन एवं ऐतिहासिक मंदिरों में से एक माँ खल्लारी का मंदिर है। जो महासमुंद शहर से 25 किमी दक्षिण की ओर खल्लारी गांव की पहाड़ी के शीर्ष पर विराजमान है। प्रत्येक क्वांर एवं चैत्र नवरात्र के दौरान बड़ी संख्या में भक्त इस दुर्गम पहाड़ी में माता के दर्शन के लिए आती है। हर साल चैत्र मास की पूर्णिमा के अवसर पर वार्षिक मेले का आयोजन किया जाता है।

 355 मीटर की ऊंचे पहाड़ में विराजमान माता खल्लारी के दर्शन के लिए भक्तों को  981 सीढ़ी  की कठिन चढ़ाई करनी पड़ती है। जिसे ध्यान में रखते हुए मंदिर के आज विधायक द्वारीकाधीश यादव और मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने रोप-वे निर्माण का भूमिपूजन किया।

कोलकाता की कंपनी रोपवे एवं रिसॉर्ट प्राइवेट लिमिटेड यहां रोप-वे का निर्माण करेगी। जिसका  खर्च मंदिर ट्रस्ट व कंपनी संयुक्त रूप से वहन करेंगे। कंपनी के अधिकारी व कर्मचारी दो माह पहले ही सड़क से पहाड़ी तक का निरीक्षण कर चुके है। रोप-वे निर्माण के लिए दोनों के बीच करार कर लिया गया है। तकनीकी स्वीकृति मिलने के बाद कंपनी के द्वारा निर्माण कार्य जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने