एयर स्ट्राइक मामला: माओवादियों ने दी बस्तर आईजी को चुनौती, मध्यस्थ भेज़ कर लो घटना की पुष्टि

 


बुधवार शाम बस्तर आईजी ने एयर स्ट्राइक जैसी घटना से किया था इंकार


रायपुर। बस्तर एयर स्ट्राइक मामला अब हाईफाई होने लगा है। पहले तो नक्सलियों वीडियो जारी कर हमले की बात की पुष्टि की, फिर देर शाम बस्तर IG सुंरदराज पी ने इस घटना को तथ्यहीन करार दिया। और अब एक बार फिर से माओवादियों ने ऑडियो टेप और क्षतिग्रस्त ड्रोन की तस्वीर जारी कर IG को चुनौती भी दे डाली।

  कल सुबह दण्डकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी प्रवक्ता विकल्प ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया था कि 19 अप्रैल दोपहर 3 बजे बीजापुर जिले में बोत्तालंका और पलागुड़ेम गांवों के बीच पुलिस ने ड्रोन के जरिए नक्सलियों पर बमबारी की। यह हमला 3 अप्रैल को हुई पुलिस-नक्सली मुठभेड़ का बदला लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पुलिस अधिकारियों ने करवाया है। इसके साथ ही माओवादियों ने घटना स्थल का वीडियो और तस्वीर भी जारी किया था। 

  लेकिन जब यह बात तमाम चैनलों और वेब पोर्टल में चली उसके बाद बस्तर IG सुंदरराज पी ने ऐसे किसी भी हमले से इंकार कर दिया था और देर शाम पत्र जारी कर इस बात को नक्सलियों के आपसी खींचतान से भटकाने और आम जनों में माओवादियों के प्रति सहानुभूति बटोरने का हत्कंड़ा बतलाया था।

 लेकिन गुरुवार सुबह माओवादियों ने फिर से ऑडियो टेप और एक क्षतिग्रस्त ड्रोन की तस्वीर जारी कर बस्तर IG को चुनौती भी दे डाली। उनका कहना है कि IG चाहे तो मध्यस्थ भेज़ कर मामले की पुष्टि करा लें। आईजी सुंदरराज के दावे झूठे हैं। इसे हम प्रमाण के साथ साबित कर देंगे।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने