अपनी जान जोखिम में डालकर गांव के लोगों की जान बचाने में लगी है महिला सरपंच

 

टीकाकरण के लिए कर रही प्रेरित


नगरी।कोरोना संक्रमण से हालात गंभीर बनें हुए है शासन-प्रशासन के इतने जतन के बाद भी लोगो मे आज भी टीकाकरण को लेकर भ्रांतियां फैली हुई है, लोग अफवाहों और बरगलाने वालों की बात मानकर अपनी जान जोखिम में डाले हुए है। आंकड़े डरावने है समझदार घर से बाहर नही निकल रहे बावजूद अपने क्षेत्र के मतदाताओं की सुरक्षा के लिए महिला सरपंच अपनी जान की परवाह किये बगैर टीम तैयार की है और घर-घर पहुँचकर ग्रामीणों को जागरूक कर रही है।


जनपद सीईओ पीआर साहू से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत भड़सीवना में 45 वर्ष से अधिक आयु के कुल 406 लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था इनमें से 368 ने स्वमेव टीका लगाया, जबकि 38  लोग तरह-तरह की बहानेबाजी कर तैयार नही हुए। 


तब सरपंच बिसंतिन पालेश्वर ने टीम गठित की, सचिव बिंदेस्वर यादव, ग्राम पटेल धनसाय, शिक्षक रविन्द्र गौर, सोपसिंग, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता शकुंनता मरकाम, कांतिबाई, मितानिन सरिताबाई, मीनाबाई व शैलेन्द्रीबाई के साथ गुरुवार को टीकाकरण में बचे लोगों के घर पहुँचकर उनकी गलतफहमियां दूर किया। 


टीम की समझाइश के बाद 19 लोगो ने टीका लगवाया बचे 19 को टीका लगाने सरपंच अपने वार्ड पंच और शासकीय कर्मचारियों के साथ मनाने में लगी हुई है।




0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने