केंद्रीय गृह मंत्री शाह के आदेश पर सीआरपीएफ़ DG पहुँचे छत्तीसगढ़

 

रायपुर।  बीजापुर में हुए नक्सल हमले में 22 जवानों की शहादत के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आदेश पर सीआरपीएफ़ डायरेक्टर जनरल कुलदीप सिंह छत्तीसगढ़ पहुंच गए हैं। उन्हें घटना स्थल का निरीक्षण करने कर विस्तृत जानकारी देने का निर्देश भी दिया गया है।

बस्तर के बीजापुर में शनिवार को नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हुए 5 जवानों में से 2 की बॉडी मिल गई है। मुठभेड़ के बाद 21 जवान लापता थे जिनके शहीद होने की पुष्टि हो गई है।। करीब 700 जवानों को नक्सलियों ने बीजापुर के तर्रेम इलाके में जोनागुड़ा पहाड़ियों के पास घेर लिया था। तीन घंटे चली मुठभेड़ में 9 नक्सली भी मारे गए हैं। करीब 30 जवान घायल हुए हैं।

 इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री भुपेश बघेल से भी चर्चा कर स्थिति को नियंत्रण में लेने को कहा। श्री बघेल अभी असम चुनाव में व्यस्त है इसलिए उन्होंने तत्काल अन्य वरिष्ठ मंत्रियों से चर्चा कर उच्च स्तरीय बैठक बुलाने का आदेश दिया।

बता दें सुरक्षा बलों को जोनागुड़ा की पहाड़ियों पर नक्सलियों के उपस्थिति की सूचना मिली थी। शुक्रवार रात को ही CRPF के कोबरा कमांडो, CRPF बस्तरिया बटालियन और स्पेशल टास्क फोर्स के दो हजार जवानों ने ऑपरेशन शुरू किया था, लेकिन शनिवार को नक्सलियों ने 700 जवानों को घेरकर तीन ओर से फायरिंग की थी।

पुलिस महानिरीक्षक पी सुंदरराज ने बताया कि मौके पर 180 नक्सलियों के अलावा कोंटा एरिया कमेटी, पामेड़ एरिया कमेटी, जगरगुंडा एरिया कमेटी और बासागुड़ा एरिया कमेटी के लगभग 250 नक्सली भी थे। सूचना मिली है कि नक्सली दो ट्रैक्टरों में शवों को ले गए हैं। बीजापुर-सुकमा जिले का सरहदी इलाका जोनागुड़ा नक्सलियों का मुख्य इलाका है। यहां नक्सलियों की पूरी एक बटालियन और कई प्लाटून हमेशा तैनात रहती हैं। इस पूरे इलाके की कमान महिला नक्सली सुजाता के हाथों में है। माना जा रहा है कि अफसरों को पहले से ही इस बात का अंदेशा था कि जवानों पर नक्सलियों का बड़ा हमला हो सकता है। यही कारण था कि पूरे इलाके में दो हजार से ज्यादा जवानों को उतारा गया था।


पहली ही गोलीबारी में उन्हें बड़ा नुकसान हो गया। हालांकि जवानों ने हौसला नहीं खोया और नक्सलियों का घेरा तोड़ते हुए तीन से ज्यादा नक्सलियों को ढेर कर दिया है। घायल जवानों और शहीदों के शव को घेरे से बाहर भी निकाल लिया। शहीद जवानों में 2-2 बस्तरिया बटालियन और DRG और एक कोबरा से हैं।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने