प्रभारी सचिव ने देखा गोधन न्याय योजना और गिरदावरी का काम,जी जामगांव और दरबा में स्थल निरीक्षण कर समूह की महिलाओं से रू ब रू हुईं

 



धमतरी 18 अगस्त 2020।छत्तीसगढ़ शासन की अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा शिक्षा एवं प्रशासन अकादमी की सचिव और जिले की प्रभारी सचिव रेणु जी. पिल्लई ने आज दोपहर धमतरी प्रवास के दौरान कुरूद विकासखंड के ग्राम जीजामगांव तथा दरबा दौरा कर प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना गोधन न्याय योजना और राजस्व विभाग के गिरदावरी कार्य की प्रगति जानने स्थल निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने वर्मी खाद निर्माण से जुड़ी स्वसहायता समूह की महिलाओं से चर्चा कर विभिन्न जानकारियां ली।


    जिले की प्रभारी सचिव श्रीमती पिल्लई कलेक्टर जय प्रकाश मौर्य के साथ ग्राम जीजामगांव पहुंचीं, जहां पर उन्होंने गौठान में जाकर गोधन न्याय योजना के तहत महिला स्वसहायता समूहों के द्वारा किसानों से गोबर खरीदकर उसे वर्मी खाद बनाने की विधि का अवलोकन किया। इस दौरान महिलाओं से चर्चा करते हुए प्रभारी सचिव ने प्रतिदिन गोबर की औसत आवक, उसका मापतौल एवं पंजी संधारण, नाडेप टांका में रखे गए गोबर को जैविक खाद के रूप में तैयार करने के बारे में पूछा। इसके अलावा अब तक जैविक खाद निर्माण एवं विक्रय उपरांत समूह को हुई आय के बारे में भी जानकारी ली। 


महिलाओं से प्रतिक्रिया लेने के उपरांत प्रभारी सचिव ने बताया कि गोधन न्याय योजना प्रदेश ही नहीं, वरन् देश की अनूठी योजना है जिससे स्वरोजगार के अवसर स्थानीय स्तर पर उपलब्ध होंगे तथा इसके माध्यम से ग्रामीण स्वयं अपनी आय अर्जित करने व स्वावलंबी बनने में सक्षम होंगे। इस दौरान अधिकारी द्वय ने वहां स्थित खेत में जाकर हल्का पटवारी के द्वारा किए गए गिरदावरी का कार्य भी देखा। इसके उपरांत उन्होंने समीप के ग्राम दरबा में भी गोबर खरीदी, खाद निर्माण और विक्रय के बाद बैंक के खाते में रकम जमा होने सहित गिरदावरी के काम भी निरीक्षण किया एवं अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। तदुपरांत वे रायपुर के लिए रवाना हुईं । इस अवसर पर संबंधित विभागों का मैदानी अमला उपस्थित रहा।

 

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने