लोगो को मिल नही मिल रहा रेत, ठेकेदारों के पास कई ट्रिप रेत डंप

 



नगरी।विकासखंड नगरी में वैध रेत, मुरुम खदान नही है पर भी कई जगहों पर रेत डंप है, कही यह जन प्रतिनिधि और अधिकारी की मिली भगत तो नही।

जिला अधिकारी खनिज विभाग की माने तो क्षेत्र में तीन रेत खदान का आबंटन है पर पर्यावरण विभाग से एनओसी नही मिल पाने की वजह से इस क्षेत्र में वर्तमान में एक भी वैध खदान नही है। 


अब मामला यह उठ रहा है कि जहां क्षेत्र की जनता को एक ट्रेक्टर रेत के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है और उनकी जेब से मोटी रकम ढीली हो रही है वही क्षेत्र में  ठेकेदारो के पास कई जगहों पर कइयों ट्रिप रेत उनके कार्यस्थल पर डंप पड़े हुए है। सवाल यह है कि एक ओर इस क्षेत्र में वैध खदान का ना होना सरकार द्वारा रेत उत्तखन्न पर प्रतिबंध लगने के बावजूद ठेकेदारों के पास कई ट्रिप रेत कँहा से पहुच रहा है या फिर इतनी मात्रा में रेत कँहा से डंप किया गया है ।


ये सवाल कर रहे है जिला कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष रवि ठाकुर।रवि ठाकुर का कहना है कि ठेकेदारों के लिए कोई नियम कानून नही है क्या अलग-अलग स्थानों में कई करोड़ रुपये के कार्य चल रहे है, एक ठेकेदार के द्वारा ही सीतानदी के खदान को कुछ सरपंचों के माध्यम से मीटिंग कर बंद करवा दी गई है जिसके कारण लोगों को रेत भी नही मिल पा रहा है और खदान बंद करने वाला ठेकेदार ही इस खदान का दोहन कर वहाँ से कई ट्रिप रेत निकाल रहा है। 


श्री ठाकुर का कहना है कि इस क्षेत्र की जनता को रेत 14000 रु प्रति हाइवा में उपलब्ध हो रही है वही ठेकेदारों द्वारा कई ट्रिप रेत का डंप करना जांच का विषय है। ऐसा तो नही कि ये अपने ओहदे का फायदा उठा कर शासन को करोड़ो रूपये का चूना लगाने में आतुर है। रवि ठाकुर ने इनके द्वारा डंप किये गए रेत के पिटपास की जांच करने की मांग की है ।वही इस क्षेत्र में शासन-प्रशासन से वैध रेत खदान जल्द से जल्द खोलने की मांग की है ताकि यहां की जनता को अपने आशियाने बनाने में सरलता और सुगमता हो।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने