कुरुद में पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी का जन्मदिन सुशासन दिवस के रूप में मना

 


मुकेश कश्यप

कुरुद।भारतीय जनता पार्टी कुरूद विधानसभा द्वारा पुराना बाजार चौक में 'सुशासन दिवस' पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन के रुप में मनाया गया, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के भाषण का एलईडी स्क्रीन के माध्यम से लाइव हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ अटलजी के चलचित्र पर माल्यार्पण के साथ हुआ। 


कार्यक्रम की रूपरेखा जिला योजना समिति सदस्य भानु चंद्राकर ने रखी। जिसके बाद जिला उपाध्यक्ष द्वय तिलोकचंद जैन एवं गौकरण साहू ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी के  व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। मुख्य वक्ता के रूप में वरिष्ठ नेता शिवप्रताप ठाकुर ने प्रदेश में दिशाहीन कांग्रेस सरकार के नीतियों के खिलाफ विधायक अजय चंद्राकर के नेतृत्व में रोड पर लड़ाई लड़ने की बात कही।


लाइव विडियो प्रसारण पर पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की अगली किस्त वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक बटन दबाकर जारी कर दी। देश के 9 करोड़ से ज्यादा किसान लाभार्थियों के खातों में 18,000 करोड़ रुपये तत्काल रूप से ट्रांसफर हो गए। जिसमें पीएम मोदी ने आगे कहा, 'किसानों के नाम पर अपने झंडे लेकर जो खेल खेल रहे हैं, अब उनको सच सुनना पड़ेगा. ये लोग अखबार और मीडिया में जगह बनाकर, राजनीतिक मैदान में खुद के जिंदा रहने की जड़ी- बूटी खोज रहे हैं. ये वही लोग हैं जो वर्षों तक सत्ता में रहें. इनकी नीतियों की वजह से देश की कृषि और किसान का उतना विकास नहीं हो पाया, जितना उसमें सामर्थ्य था. पहले की सरकारों की नीतियों की वजह से सबसे ज्यादा बर्बाद छोटा किसान हुआ.'


आप न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी पर अपनी उपज बेचना चाहते हैं? आप उसे बेच सकते हैं। आप मंडी में अपनी उपज बेचना चाहते हैं? आप बेच सकते हैं. आप अपनी उपज का निर्यात करना चाहते हैं ? आप निर्यात कर सकते हैं. आप उसे व्यापारी को बेचना चाहते हैं? आप बेच सकते हैं।

हमने इस लक्ष्य पर भी काम किया की देश के किसान के पास खेत में सिंचाई की पर्याप्त सुविधा हो. हम दशकों पुरानी सिंचाई योजनाओं को पूरा करने के साथ ही देशभर में Per Drop-More Crop के मंत्र के साथ माइक्रो इरीगेशन को भी बढ़ावा दे रहे हैं.

हम इस दिशा में भी बढ़े कि फसल बेचने के लिए किसान के पास सिर्फ एक मंडी नहीं बल्कि नए बाजार हो. हमने देश की एक हजार से ज्यादा कृषि मंडियों को ऑनलाइन जोड़ा. इनमें भी एक लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का कारोबार हो चुका है। इन कृषि सुधार के जरिए हमने किसानों को बेहतर विकल्प दिए हैं। इन कानूनों के बाद आप जहां चाहें जिसे चाहें अपनी उपज बेच सकते हैं। आपको जहां सही दाम मिले, आप वहां पर उपज बेच सकते हैं।



कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं का आभार मंडल अध्यक्ष कुलेश्वर चंद्राकर एवं मंच संचालन कृष्णकांत साहू ने किया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से कमलेश ठोकनें, श्याम साहू, पूर्व जनपद अध्यक्षा पूर्णिमा साहू, ज्योति चंद्राकर, रामस्वरूप साहू, रामगोपाल देवांगन, आनंद यदु, पुष्पेंद्र साहू, मोहन अग्रवाल, दीपक चंद्राकर, लोकेश साहू, भोजराज विनोद चंद्राकर, आदर्श चंद्राकर, टेकराम साहू, टीकेश साहू, हरिशंकर सोनवानी, नोमेंश साहू, चंद्रशेखर चंद्राकर, मूलचंद सिन्हा, थानु साहू, मिथलेश बैस, संजय चंद्राकर, पुजा साहू, रश्मि साहू, भूमिका सिन्हा, कमलेश चंद्राकर, सत्यप्रकाश सिन्हा, अनुराग चंद्राकर, सत्यम चंद्राकर, विक्की साहू, केशव चंद्राकर, नवनीत शर्मा, गीतांश यादव, होरीलाल साहू, विक्की देवांगन, राहुल बांधेकर, किशोर कुर्रे, विक्रम बंजारे, हिमांशु साहू, सोमप्रकाश सिन्हा, खोमेश साहू, खेलन साहू, हरीशचंद्र, लोमेन्द्र साहू मौजूद रहे।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने