जूना अखाड़ा नासिक के नागा साधु पहुँचे राजिम मेला में


मगरलोड। लोमश ऋषि आश्रम में साधु संतों का डेरा लगा हुआ है। इस बार भी माघ पूर्णिमा से ही नासिक, हरिद्वार से सीधे जूना अखाड़ा के एक नागा साधु पहुंचे हुए हैं वह आश्रम मे  ही धुनी रमाय हैं। आने जाने वाले श्रद्धालुओं को राख का भभूत देकर आशीर्वाद दे रहे है। उन्होंने बताया कि राजिम धर्म धरा है, जहां साक्षत भगवान श्री राजीवलोचन एवं संगम पर श्री कुलेश्वरनाथ महादेव का शिवलिंग श्रद्धा भावना को जन्म देती है। यहां की जनता सीधे साधे एवं सरल स्वभाव के हैं। 

इसी प्रकार मेला में विभिन्न स्थानों में अनेक शहरों और राज्यों से साधु-संत पहुंचे हुए है, जो श्रद्धालुओं को आशीर्वाद प्रदान कर रहे है।



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने