हरदेव सिन्हा, यूरिया संकट, भवन अनुज्ञा शुल्क में वृद्धि, अवैध जर्दा गुटखा, शराब तस्करी जैसे मुद्दों को रंजना साहू ने उठाया





ज्वलंत मुद्दों पर विधानसभा में मुखर रही विधायक 


धमतरी। छत्तीसगढ़ राज्य विधानसभा के मानसून सत्र में विधायक रंजना डीपेंद्र साहू द्वारा विधानसभा के पटल पर क्षेत्र के अनेक गंभीर जनहितकारी तथा लोकहित से जुड़े हुए अनेक मुद्दों को प्रामाणिकता व मजबूती के साथ रखते हुए त्वरित निराकरण की ओर आसंदी सहित सरकार का ध्यान आकृष्ट कराया।

सत्र में विधायक श्रीमती साहू ने तेलिनसत्ती निवासी हरदेव सिन्हा के मुख्यमंत्री निवास के समक्ष अग्नि स्नान करने से मृत्यु हो जाने पर आश्रितों तथा परिवारजनों को मुआवजा व स्थाई नौकरी की मांग की बात रखी। क्षेत्र में किसानों की खड़ी फसल को आवश्यक यूरिया की आपूर्ति ना कर पाए जाने संबंधी बातों को उठाते हुए कहा कि यह कहीं ना कहीं कृत्रिम संकट उत्पन्न कर अत्यधिक दामों पर यूरिया सहित आवश्यक खादो की बिक्री करने का प्रयास है, जिस पर सरकार लगाम कसने पर विफल हो रही है। क्षेत्र में अविलंब किसानों की मांग के अनुरूप  यूरिया की आपूर्ति किए जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने की बात कही।

बीते दिनों रेत माफियाओं के द्वारा क्षेत्र में दहशत उत्पन्न कर दूसरे राज्यों में रेत की तस्करी को ध्यानाकर्षण करते हुए समुचित कार्रवाई की मांग की तथा उनके संरक्षण दाताओं को भी बेनकाब कर जनता के सामने लाए जाने हेतु सर्वदलीय समिति गठित करने का सुझाव दिया।
विधायक श्रीमती साहू ने गांव-गांव, शहर के वार्ड-वार्ड में  अवैध शराब एवं जर्दा युक्त गुटखा को सामाजिक कलंक बताते हुए सदन में बातें रखीं। पहले तो परिवार के पुरुष सदस्य के नशापान के कारण घर उजड़ता था, पर आज तो छोटे-छोटे बच्चों द्वारा अनेक माध्यमों के नशा पान के कारण युवा पीढ़ी नशा के गिरफ्त में आ गई है, इसकी जिम्मेदारी निर्धारित करते हुए समग्र रूप से संपूर्ण नशाबंदी का मजबूत कदम उठाने की बात कही । स्थानीय नगर निगम द्वारा भवन अनुज्ञा शुल्क मनमाने तरीके से आरोपित हुए, इसे वापस लेने की बात श्रीमती साहू के द्वारा करते हुए कहा कि  कोविड-19 से उत्पन्न आर्थिक संकट में आम जनता को मनमानीपूर्ण टैक्स वसूल करना जनता के साथ अन्याय है, वहीं दूसरी ओर निजी चिकित्सालयों में पिछली सरकार द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड सुविधा के मापदंडों में आने वाले अनेक बीमारियों को अलग कर गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले के सुरक्षित जीवन पर संकट उत्पन्न करने की बात कही तथा सभी बीमारियों का इलाज निजी अस्पतालों में किये जाने की बात कही।


कृषि को सरकार के जिम्मेदार लोग अपना महत्वपूर्ण मिशन बताते हैं, कृषक अपना स्थाई सिंचाई पंप कनेक्शन के लिए घूम रहे हैं एवं भारी भरकम बिजली बिल ली जा रही है।जिससे किसान प्रदेश सरकार के लोकलुभावनी वादों में अपने को ठगा हुआ महसूस कर रही है।
 अवैध प्लाटिंग से आम जनता व सरकार को हो रही राजस्व की कमी में  व्यवस्था का सुधार की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि रोटी, कपड़ा और मकान आम आदमी की बुनियादी आवश्यकता है और इसे सरलता पूर्वक प्राप्त करने का हर व्यक्ति को नैतिक अधिकार है ।विभिन्न सोसायटीओं के माध्यम से उपार्जित धान समय पर परिवहन नहीं होने के कारण संस्थाओं को होने वाली हानी के लिए जिम्मेदारी तय होनी चाहिए एवं दोषी लोगों पर कार्रवाई की बात कही।
विधायक श्रीमती रंजना डीपेंद्र साहू द्वारा विधानसभा में याचिकाओं के द्वारा विभिन्न। गांव में निर्माण कार्यों पर ध्यान आकृष्ट कराया।विपक्ष में रहते हुए विधायक रंजना डीपेंद्र साहू की मुखरता तथा मुद्दों की प्रमुखता को सरकार को ध्यान आकृष्ट करा रही है, गौरतलब है कि इससे पूर्व क्षेत्र के ज्वलंत मुद्दे कहीं ना कहीं मौन रहे, जिसे नारी शक्ति की प्रबलता के रूप में विधायक रंजना साहू ने आवाज देते हुए जनहित को ही अपना केंद्र बिंदु समझ व समग्र मिशन बनाकर सदन में रखी।

0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने